एनआईए

ISI को सूचना भेजने के आरोप में एक आदमी को एनआईए (NIA) ने गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि भारतीय सेना (INDIAN ARMY) से जुड़ी गोपनीय जानाकरियां इसके द्वारा पाकिस्तान (PAKISTAN) की खुफिया एजेंसी ISI को भेजी जा रही थी।

जांच में पाया गया कि सोशल मीडिया(Social Media) पर आईएसआईएस(ISIS) से जुड़ी बातें पढ़ कर हिना बशीर चरमपंथ के रास्ते पर उतर गई। सोशल मीडिया पर ISIS को लेकर चल रही बातों का बशीर पर ऐसा असर हुआ कि चरमपंथ के रास्ता अपनाया।

प्रधान न्यायाधीश ने याचिकाकर्ता के वकील से कहा कि अदालत बिना किसी कारण के इसे खारिज कर देगी। याचिकाकर्ता के वकील ने जोर देकर कहा, "क्या मैं आपको कानून के बारे में बता सकता हूं? क्या आपका आधिपत्य चाहता है कि इस मामले की जांच न हो?"

हाल ही में ये खबरे सुनने को मिल रही हैं कि भारत में आतंकी हमले का खतरा है। ऐसे में राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए ने एक बड़ा खुलासा किया है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एनआइए को केरल सोना तस्करी मामले की जांच करने की इजाजत दे दी है। सरकार का कहना है कि यह घटना राष्‍ट्रीय सुरक्षा पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती है।

एनआईए 14 फरवरी 2019 को हुए पुलवामा हमले की जांच कर रही है। जांच के दौरान पहले ही इस मामले में कई आरोपियों को पकड़ा जा चुका है।

देश कि राजधानी दिल्ली में कोरोना के मरीज बढ़ते जा रहे है और इस महामारी से होने वाली मौत के आंकड़े में भी बढ़ोतरी जारी है। इसी बीच NIA यानी राष्ट्रीय जांच एजेंसी हेडक्वार्टर में 4 महिला कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं।

सूत्र ने कहा कि उसे भारतीय सिम भी वितरित किए गए हैं और वह व्हाट्सएप ग्रुपों के माध्यम से संपर्क की जिम्मेदारी संभाल रही थी। एनआईए ने प्रवीण की 10 दिनों की हिरासत ले ली है और आतंकवाद निरोधक एजेंसी की एक टीम कोलकाता कार्यालय में उससे पूछताछ करेगी।

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस को शरजील इमाम के बैंक खाते में विदेशी फंडिंग के सबूत मिले हैं। इसके तार शाहीन बाग में हो रहे विरोध प्रदर्शन से भी जुड़े हैं।

हमले में एक दर्जन से ज्यादा पुलिस अधिकारियों सहित लगभग 160 लोग मारे गए थे और सैकड़ों लोग घायल हुए थे। आतंकवादियों ने ताजमहल पैलेस होटल, छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रेलवे स्टेशन, लियोपोड कैफे- पर्यटकों के बीच एक लोकप्रिय रेस्तरां और एक यहूदी सांस्कृतिक और धार्मिक केंद्र नरीमन हाउस को निशाना बनाया था।