एनएसई

घरेलू शेयर बाजार में लगातार चार दिनों की तेजी के बाद शुक्रवार को कारोबारी सुस्ती देखी गई। हालांकि सेंसेक्स और निफ्टी की शुरुआत तेजी के साथ हुई लेकिन कमजोर विदेशी संकेतों से गिरावट आ गई।

विदेशी बाजारों से उत्साहवर्धक संकेत नहीं मिलने के बावजूद बुधवार को भारतीय शेयर बाजार में कारोबार की शुरुआत तेजी के साथ हुई। प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शुरुआती कारोबार के दौरान 200 अंक से ज्यादा उछला और निफ्टी भी बढ़त के साथ 12,200 के ऊपर खुला।

भारतीय शेयर बाजार में गुरुवार को कारोबार की शुरुआत तेजी के साथ हुई। शुरुआती कारोबार के दौरान सेंसेक्स 150 अंक से ज्यादा उछला और निफ्टी 11,950 के उपर बना हुआ था।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी पिछले सत्र के मुकाबले बढ़त के साथ 11,950.50 पर खुला और 11,953.20 तक उछला, लेकिन जल्द ही फिसलकर 11,914.65 पर आ गया।

सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को देश के शेयर बाजार के शुरुआती कारोबार में गिरावट का रुख है। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 10.09 बजे 180.96 अंकों की गिरावट के साथ 37,204.03 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 58.35 अंकों की कमजोरी के साथ 11,017.55 पर कारोबार करते देखा गया।

घरेलू शेयर बाजार सोमवार (2 सितंबर) को गणेश चतुर्थी के कारण बंद रहेंगे।

सोमवार को शेयर बाजार की सकारात्मक शुरुआत हुई और उतार-चढ़ाव के बीच सेंसेक्स 792.96 अंकों या 2.16 फीसदी की तेजी के साथ 37,494.12 पर बंद हुआ।

घरेलू शेयर बाजार में शुक्रवार को भी निवेशकों में निराशाजनक रुझान के कारण गिरावट का सिलसिला जारी रहा। शुरूआती कारोबार के दौरान बीएसई का प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 370 अंक लुढ़का जबकि एनएसई के प्रमुख सूचकांक निफ्टी में भी 100 अंकों से ज्यादा की गिरावट आई।

प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 587.44 अंकों की गिरावट के साथ 36,472.93 पर और निफ्टी 182.30 अंकों की गिरावट के साथ 10,736.40 पर बंद हुआ।

निफ्टी भी 130 अंक लुढ़क कर 10,848.95 पर आ गया। अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक मोर्चे पर फिर खटास आ जाने से एशियाई शेयर बाजारों में गिरावट देखी जा रही है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फिर चीनी वस्तुओं के आयात पर नया शुल्क लगाने की चेतावनी दी है।