एनएसए

एएमयू में भड़काऊ भाषण देने वाले डॉ. कफील खान पर लगी रासुका में गृह मंत्रालय ने तीन महीने की बढ़ोतरी की है। डॉ. कफील पर 13 फरवरी को एनएसए लगाई गई थी। वह वर्तमान में मथुरा जेल में बंद हैं। कफील गोरखपुर में बच्चों के डॉक्टर रहे है। 

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को हिंसा रोकने की जिम्मेदारी दी गई। जिसके बाद डोभाल एक बार फिर से नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के सीलमपुर इलाके में डीसीपी ऑफिस पहुंचे।

भाजपा के दो मुख्य एजेंडे, जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाने और राम मंदिर फैसले के बाद सुरक्षा व शांति व्यवस्था कायम रखने के पीछे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और उनकी एडवायजरी काउंसिल का अहम रोल रहा।

370 हटने के बाद कश्मीर में पहली बार कोई विदेशी प्रतिनिधिमंडल कदम रखने जा रहा है।  कश्मीर के लिहाज से यह एक बड़ा कदम होगा। इस प्रतिनिधिमंडल में यूरोपियन संसद के सदस्य शामिल हैं।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंकवादियों का समर्थन करने वाले और उन्हें बढ़ावा देने वाले लोगों को खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम होना चाहिए।

अजीत डोभाल ने सुरक्षा एजेंसियों को आतंकवाद से लड़ने के लिए तौर-तरीकों में बदलाव करने का सुझाव देते हुए पाकिस्तान पर हमला बोला। उन्होंने पाकिस्तान को आतंकियों को समर्थन देने वाला राष्ट्र बताते हुए कहा कि इस्लामाबाद को इसमें विशेषज्ञता हासिल है।

पाकिस्तान के साथ जम्मू कश्मीर को लेकर तनातनी के बीच साउदी प्रिंस और अजीत डोभाल के बीच की ये मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं। दोनों के बीच करीब 2 घंटे तक बातचीत हुई।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, मंगलवार को एयर फोर्स वन में रिपोर्टर्स से बात करते हुए ट्रंप ने कहा कि उन्होंने पांच लोगों को अंतिम सूची में रखा है।

उन्‍होंने बताया कि सीमा के साथ 20 किलोमीटर की दूरी पर पाकिस्तानी संचार टॉवर हैं, वे संदेश भेजने की कोशिश कर रहे हैं। हमने सुना है कि वे अपने आदमियों को यहां बता रहे हैं 'कितने सेब के ट्रक चल रहे हैं'।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने सोमवार को ईद-उल-अजहा त्योहार के मौके पर पुलिस नियंत्रण कक्ष में जम्मू-कश्मीर के पुलिसकर्मियों और अधिकारियों के साथ बैठकर खाना खाया।