एनपीआर

नये साल के आगाज पर उन्होंने लोगों से शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील करते हुए कहा कि भारत एक बगीचा है, जिसमें हर तरह के फूल हैं, हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई आदि ये फूल हैं और सब फूल को खिलने का मौका मिले।

भाजपा ने यह तय किया है कि पार्टी सकारात्मक तरीके से पूरे देश में इस कानून की सच्चाई जनता को बताएगी। इसी कड़ी में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं गृह मंत्री अमित शाह 12 जनवरी को जबलपुर आ रहे हैं।

अब सरकार इसी प्रोजेक्ट में इस्तेमाल किये गए सवालों की फ़ेहरिस्त पर अपनी मुहर लगाने जा रही है। दरअसल NPR के तहत देश भर के 74 जिलों में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लोगों से जानकारियां मांगी गई।

भारतीय राजनीति में इस साल कुछ घटनाएं ऐसी हुईं, जिनका जब भी जिक्र होगा तो 2019 की याद हमेशा आएगी। 2020 का स्वागत करने के साथ ही इन घटनाओं को भी याद करना जरूरी होगा। साल 2019 में एनडीए गठबंधन को फिर से केंद्र की सत्ता मिल गई लेकिन भाजपा के कई दिग्गज नेताओं को खोने का दुःख भी इस साल पार्टी के हिस्से में आया। पार्टी को इससे बड़ा झटका लगा।

जेके पुलिस के डीजीपी के मुताबिक साल 2019 में घाटी में 160 आतंकवादियों को मारा गया है। इस बीच आतंकी संगठन ज्वाइन करने वाले युवाओं की संख्या भी तेजी से घटी है।

राफेल विमान सौदे में भ्रष्टाचार, पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाक अधिकृत कश्मीर में एयर स्ट्राइक को लेकर सरकार को घेरने की कवायद के बीच 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा गया और सारे दावों को धता बताते हुए मोदी 2.0 सरकार कहीं अधिक मजबूती के साथ केंद्र में आई।

साल 2019 में जब नरेंद्र मोदी सरकार प्रचंड बहुमत से आई तो उसके सामने सबसे बड़ी चुनौती देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के रूप में थी।

साल 2019 में एनडीए गठबंधन को फिर से केंद्र की सत्ता मिल गई लेकिन भाजपा के कई दिग्गज नेताओं को खोने का दुःख भी इस साल पार्टी के हिस्से में आया।

साल 2019 को अलविदा कहने से पहले नरेंद्र मोदी सरकार के उन तीन बड़े फैसले और तीन बड़े विवाद को जानना जरूरी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोबारा सत्ता संभाली तो उन्होंने अपनी पार्टी के घोषणापत्र पर काम करना शुरू कर दिया। मोदी 2.0 सरकार ने ऐसे कई फैसले लिए जो ऐतिहासिक रहे।