एनपीआर

राहुल गांधी ने कहा कि हर धर्म को, हर जाति को, आदिवासी, दलित और पिछड़ों को बगैर साथ लिए देश की अर्थव्यवस्था नहीं चलाई जा सकती है। उन्होंने ये भी कहा कि अर्थव्यवस्था को किसान, गरीब, मजदूर और आदिवासी चलाते हैं।

अरुंधती रॉय ने 25 दिसंबर को भारतीयों से एनपीआर की जनगणना में गलत नाम और पता बताने की अपील की थी। नागरिकों में डर पैदा करते हुए रॉय ने भीड़ को संबोधित करते हुए कहा था कि एनपीआर के आंकड़ों का इस्तेमाल एनआरसी के लिए किया जाएगा।

प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि, वो आपसे पहले नौकरियां देने का वादा करेंगे फिर देश का संविधान बर्बाद करेंगे। प्रियंका गांधी ने इसको लेकर एक ट्वीट भी किया है जिसमें वो लोगों को क्रोनोलोजी समझाया है।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि डिटेंशन सेंटर और एनआरसी या सीएए के बीच कोई संबंध नहीं है। डिटेंशन सेंटर वर्षों से है और अवैध प्रवासियों के लिए है। इस पर गलत सूचना फैलाई जा रही है।

अभिनेत्री स्वरा भास्कर और जीशान अयूब ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में उत्तर प्रदेश में हुए प्रदर्शन पर पुलिस की कार्रवाई को लेकर बयान दिया।

कांग्रेस और असदुद्दीन ओवैसी समेत कई दल मोदी सरकार पर आरोप लगा रहे हैं कि वो एनपीआर के जरिए पिछले दरवाजे से एनआरसी लागू करना चाह रही है।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि डिटेंशन सेंटर और एनआरसी या सीएए के बीच कोई संबंध नहीं है। डिटेंशन सेंटर वर्षों से है और अवैध प्रवासियों के लिए है। इस पर गलत सूचना फैलाई जा रही है।

नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) और एनआरसी पर मचे घमासान के बीच केंद्र सरकार राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर(एनपीआर) को एक बार फिर से धरातल पर उतारने में जुटी है। अगले हफ्ते होने वाली कैबिनेट की बैठक में एनपीआर के नवीनीकरण को हरी झंडी मिलने की संभावना है।