एनसीपी

Maharashtra: संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि उनका गठबंधन (शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस) महाराष्ट्र में पुरे 5 सालों तक सरकार चलाएगी और आने वाले चुनाव को जीत जायेंगे, 5 साल तो क्या अगले 25 सालों तक महाराष्ट्र पर राज करेंगे।

Maharashtra Politics: खडसे की राजनीति की बात करें तो एकनाथ खडसे( Eknath Khadse) की गिनती महाराष्ट्र भाजपा के कदावर नेताओं में होती रही है, खडसे 6 बार जलगांव(Jalgaon) जिले के मुक्ताईनगर से बीजेपी के विधायक रहे हैं। ए

Maharashtra Government: महाराष्ट्र में बाढ़ से बने हालातों को लेकर राज्य सरकार में सहभागी शरद पवार(Sharad Pawar) ने कहा था, "केन्द्र सरकार को किसानों की मदद करनी चाहिए और उसके लिए मैं अन्य सांसदों के साथ प्रधानमंत्री(PM Modi) से भेंट करूंगा।’’

Maharashtra Politics: एनसीपी (NCP) सुप्रीमो शरद पवार (Sharad Pawar) ने इस मुलाकात पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इस मुलाकात का सूबे की सियासत पर कोई भी असर पड़ने की संभावना नहीं है। उन्होंने कहा कि अखबारों के संपादकों या पत्रकारों को इंटरव्यू लेने पड़ते हैं और संजय राउत (Sanjay Raut) इसी सिलसिले में देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadanvis) से मिलने गए थे।

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को शिवसेना (Shivsena) की तरफ से जमकर धमकी दी जाने लगी है। शिवसेना समेत सभी साथी दल के नेता एक-एक कर कंगना पर जुबानी वार कर रहे हैं।

महाराष्ट्र (Maharashtra) में राजनीतिक सरगर्मी तेज है। सरकार के खिलाफ फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने आवाज उठाई तो उसके नए नवेले दफ्तर पर बीएमसी (BMC) का बुलडोजर चल गया।

सीएम उद्धव ने सवाल पूछते हुए कहा कि केंद्र में कितने पहिये हैं? हमारी तो ये तीन पार्टियों की सरकार है। केंद्र में कितने दलों की सरकार है, बताओ ना?

महाराष्ट्र में शिवसेना नीत महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार में तनाव के संकेत दिख रहे हैं, जहां गठबंधन की तीन सहयोगियों में से एक कांग्रेस, प्रमुख निर्णय लेने की प्रक्रिया और महत्वपूर्ण बैठकों में खुद को शामिल कराने का प्रयास कर रही है।

एक तरफ योगी ने जहां प्रदेश में लॉकडाउन को सफलता पूर्वक लागू करवाने एवं गरीब कल्याणकारी योजनाओं को जमीनी स्तर पर पहुंचाने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की अध्यक्षता 11 कमेटियों का गठन किया।

महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की जबसे सरकार बनी है, तभी से तीनों पार्टियों के बीच मतभेद की खबरें लगातार सामने आ रही हैं। अब एक बार फिर महाराष्ट्र में महाविकास अगाड़ी गठबंधन में अनबन की सुगबुगाहट तेज है।