ऑटो सेक्टर

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki) गुरुग्राम से अपना प्लांट(Gurugram Plant) हटाएगी। कंपनी अब गुरुग्राम से बाहर शिफ्ट होगी।

कोरोना वायरस और लॉकडाउन का बुरा असर ऑटो सेक्टर पर पड़ा। भले ही ऑटो सेक्टर को इससे भारी नुकसान हुआ हो, लेकिन राहत की बात ये है कि लॉकडाउन के बाद पुरानी गाड़ियों की बिक्री में भारी बढ़ोतरी देखी जा रही है।

ऑटो सेक्टर 2018 से मंदी की मार झेल रहा है, जब से लॉकडाउन हुआ है तब से और भी ज्यादा बुरे दौर से गुजर रहा है। इस समय सबसे ज्यादा घाटे में ऑटो सेक्टर चल रहा है।

दुनिया भर में जारी आर्थिक मंदी के बीच भारत में भी इसका असर सीधे तौर पर देखने को मिल रहा है। भारतीय बाजार में ऑटो सेक्टर की हालत इस आर्थिक मंदी में सबसे ज्यादा खराब है।

घरेलू ऑटोमोबाइल की बिक्री में लगातार गिरावट का रुख बना हुआ है और नवंबर में ऑटो सेक्टर की कुल बिक्री में वार्षिक आधार पर 12.05 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है।

कंपनी ने एक रेग्यूलेटरी फाइलिंग में कहा कि निर्यात समेत उसके वाहनों की बिक्री बीते महीने नवंबर में 41,235 रही जबकि पिछले साल इसी महीने में कंपनी ने 45,101 बेचे थे।

ऑटो सेक्टर के लिए सितंबर का महीना भी बिक्री के लिहाज से निगेटिव रहा है। सितंबर में मारुति सुजुकी की बिक्री में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है।

हार्ले डेविडसन ने कहा है कि इलेक्ट्रिक बाइक LiveWire को घरों के लोअर-वोल्टेज आउटलेट्स में चार्जिंग के लिए लगाने पर प्रॉब्लम आ सकती है। कंपनी ने एक बयान ने कहा है, 'एक फाइनल क्वॉलिटी चेक के दौरान हमें नॉन-स्टैंडर्ड कंडीशन का पता लगा है

वित्त एवं कॉरपोरेट मामलों के राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने यहां एसीएमए के वार्षिक सम्मेलन में कहा कि सरकार को जीएसटी दर 28 फीसदी से घटाकर 18 प्रतिशत करने के संबंध में विभिन्न घटकों से कई आग्रह प्राप्त हुए हैं, जिसमें ऑटोमोबाइल डीलर, ओईएम और कार विनिर्माता शामिल हैं।

बीएस-4 गाड़ियों को लेकर सरकार की तरफ से आए स्पष्टीकरण के बाद कार निर्माता कंपनियों की तरफ से ग्राहको को लुभाने के लिए खास तैयारियां शुरू हो गई हैं।