ओम बिड़ला

लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला इस बात को संसद में कह चुके थे कि संसद में किसी भी तरह की अनियमितता की कोशिश को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

राजस्थान के कोटा में 48 घंटे में 10 बच्चे की मौत और साल भर में हजार से ज्यादा बच्चों की मौत पर भी सब कुछ सामान्य नजर आ रहा है।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने एक सभा के दौरान ब्राह्मणों को श्रेष्ठ बताते हुए कहा कि, उन्हें यह स्थान त्याग और तपस्या की वजह से मिला है। अब ओम बिड़ला के बयान को लेकर कांग्रेस पार्टी सवाल खड़े कर रही है।

विश्व की प्राचीनतम भाषा संस्कृत जल्द ही लोकसभा में गूंजती सुनाई देगी। मोदी सरकार ने भारत का गौरव रही इस भाषा को जन-जन तक पहुंचाने के प्रयास तेज कर दिए हैं।

इसके तहत पीएम मोदी ने गांधी जयंती के मौके पर यानी कि, 2 अक्टूबर से देशभर में स्वच्छता अभियान की शुरुआत की थी। इसी सिलसिले को पीएम मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल में भी जारी रखा।

सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस को अपोजिशन बेंच की पहली लाइन में दो सीटें मिली हैं। वहीं, इसकी सहयोगी और दूसरी बड़ी विपक्षी पार्टी डीएमके को कांग्रेसी नेताओं के बगल में एक सीट मिली है।

दो बार के लोकसभा सांसद ओम बिड़ला को पूरे सदन ने ध्वनिमत से अपना समर्थन दिया और फिर कार्यवाहक अध्यक्ष वीरेन्द्र कुमार ने बिड़ला को स्पीकर घोषित किया।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद ओम बिड़ला ने बुधवार को उन्हें सर्वसम्मति से 17वीं लोकसभा का अध्यक्ष चुनने पर राजनीतिक पार्टियों का शुक्रिया अदा किया और निष्पक्षता के साथ अपने कर्तव्य के निर्वहन के लिए प्रतिबद्धता जताई।

राजस्थान के कोटा से भाजपा सांसद ओम बिड़ला आज निर्विरोध लोकसभा के अध्यक्ष चुन लिए गए है। प्रधानमंंत्री नरेंद्र मोदी ने ओम बिड़ला के नाम का प्रस्ताव रखा, जिसका राजनाथ सिंह ने समर्थन किया।

पीएम नरेंद्र मोदी ने एक बार सबको खासकर अपनी ही पार्टी के लोगों को चौंका दिया है, जिसका कारण है लोकसभा स्पीकर का पद। दरअसल मोदी सरकार 2.0 में लोकसभा का स्पीकर ओम बिड़ला को बनाया गया है, जो राजस्थान के कोटा से बीजेपी सांसद हैं। चूंकि ओम बिड़ला का नाम इससे पहले राष्ट्रीय राजनीति में कभी नहीं सुना गया।