औषधि

स्वास्थ्य सुख है और रोगी होना दुख। यह मान्यता भारतीय आयुर्विज्ञान की है। संक्रामक रोगों के रोगी को अलग रखे जाने की जरूरत अथर्ववेद के रचनाकाल में भी थी।

चीन के राष्ट्रीय औषधि प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि 'टीका प्रबंधन कानून' में टीका के अनुसंधान और उत्पादन के पूरे कार्यक्रम के प्रति नियम तय किए गए हैं।