कन्हैया कुमार

कभी आम आदमी पार्टी की त्रिमूर्ति रहे नेताओं ने अरविंद केजरीवाल को जमकर लताड़ा है। दिल्ली हिंसा के मुद्दे पर केजरीवाल को जमकर खरी-खोटी सुनाई है।

जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और 9 अन्य लोगों पर 4 साल पुराने मामले को लेकर दिल्ली सरकार ने पुलिस को देशद्रोह का मुकदमा चलाने की अनुमति दे दी है।

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर दिल्ली सरकार द्वारा देशद्रोह मामले में मुकदमा चलाने की मंजूरी दे दी गई है।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविधालय (जेएनयू) छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर देशद्रोह का मुकदमा चलाये जाने का कांग्रेस ने कड़ा विरोध किया है। पूर्व वित्तमंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने ट्विटर के जरिए अपना विरोध जताया है।

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने शुक्रवार को भारत विरोधी नारे लगाने और नफरत भड़काने के आरोप में घिरे कन्हैया कुमार पर देशद्रोह का मुकदमा चलाने की मंजूरी दे दी है।

बिहार की राजधानी पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में वामदल नेता और जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार की संविधान बचाओ नागरिकता बचाओ महारैली हुई।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली पुलिस ने इस पूरे प्रकरण में आरोप-पत्र दायर करने के लिए तीन साल का समय लिया है। अब दिल्ली सरकार का कानूनी मामलों से संबंधित विभाग इस विषय का अध्ययन कर रहा है।

बिहार में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में अभी सात से आठ महीने का समय बाकी है, मगर सभी राजनीतिक पार्टियां अभी से 'चुनावी मोड' में आ गई हैं। ये पार्टियां चुनावी पिच का मुआयना करने के लिए अपने दिग्गज खिलाड़ियों को मैदान में उतार रही हैं।

कन्हैया पर पथराव तब हुआ जब वह बक्‍सर से आरा जा रहे थे। स्थिति इतनी गंभीर हो गई कि कन्‍हैया कुमार को जान बचाकर भागना पड़ा। मगर भागने की हड़बड़ी में कन्‍हैया के काफिले से कई बाइक सवार बुरी तरह जख्‍मी हो गए। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने मामले को संभालने की कोशिश की। इससे पहले बक्‍सर में कन्‍हैया कुमार को काला झंडा दिखाया गया। दरअसल वामदलों की जन मन यात्रा के तहत शु्क्रवार को भाकपा नेता कन्‍हैया कुमार की सभा बिहार के बक्‍सर व आरा में निर्धारित थी।

कन्हैया कुमार फिर एक विवाद में फंस गए हैं। वे बिहार में जहां भी जा रहे हैं, उनका जमकर विरोध हो रहा है। इसी कड़ी में जवाहर लाल नेहरू विश्व विद्यालय छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष व भाकपा नेता कन्हैया कुमार पर एक बार फिर पथराव हुआ।