कपिल मिश्रा

विरोध प्रदर्शन कर रहे शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के खिलाफ शुरुआत से ही हमलावर रहे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता कपिल मिश्रा ने मंगलवार को एक बार फिर उन पर निशाना साधा। इस बार कोविड-19 के बढ़ते खतरे को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मिश्रा ने ट्वीट कर कहा, "पहले उन्होंने हमारे यातायात को रोका, हमें स्कूल-अस्पताल और कार्यालय जाने से भी रोका। अब शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी आत्मघाती मिशन पर निकले आतंकवादियों की तरह व्यवहार कर रहे हैं।"

कपिल मिश्रा को लेकर एक फेक न्यूज एनडीटीवी की तरफ से प्रसारित किया गया जिसके बाद चैनल को इस पूरे प्रकरण पर सोशल मीडिया पर सफाई देनी पड़ी।

आम आदमी पार्टी के निशाने पर शुरू से ही भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़े उनकी ही पार्टी के बागी नेता कपिल मिश्रा है।

दिल्ली में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा को लगातार मिल रही धमकियों के बाद वाई प्लस कैटेगरी की सुरक्षा दिए जाने की खबर सामने आई। लेकिन अब दिल्ली पुलिस ने कपिल को किसी भी तरह की सुरक्षा व्यवस्था देने से साफ इनकार कर दिया है।

उत्तर-पूर्व दिल्ली में सांप्रदायिक हिंसा के बाद स्थिति सामान्य हो रही है, ऐसे में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता कपिल मिश्रा सहित कई लोगों ने शनिवार को जंतर-मंतर पर इकट्ठा होकर शांति मार्च में भाग लिया।

हमने पहले भी कहा था कि नाथूराम गोडसे के पैदा होने से कोई भी सभ्य समाज कलंकित ही महसूस करता है, लेकिन वह केवल महात्मा गांधी पैदा करने की गारंटी भी नहीं दे सकता। 10 लाख लोगों की लाशों पर इस्लाम के नाम पर हुआ देश-विभाजन हिंदुओं के चेतन-अवचेतन में ज़रूर रहता है और हमेशा रहना चाहिए।

दिल्ली हिंसा पर मंगलवार देर शाम दिल्ली में प्रतिक्रिया देते हुए चिराग पासवान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के शीर्ष नेतृत्व को कपिल मिश्रा पर तुरन्त कार्रवाई करनी चाहिए।

गौतम गंभीर ने कहा कि, चाहे वह कपिल मिश्रा हो या किसी और दल के लोग, जो भी भड़काऊ भाषण दे उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

शाहीन बाग में एक तरफ का रोड खुले अभी एक दिन भी नहीं बीता कि अब नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में भी शाहीन बाग जैसे प्रदर्शन शुरू हो चुके हैं। यहां जाफराबाद के बाद चांदबाग में सड़क को जाम कर दिया गया है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और केरल के वायनाड से मौजूदा सांसद राहुल गांधी ने पुलवामा हमले के बरसी पर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए केंद्र सरकार पर सवाल उठाए है। राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में मोदी सरकार पर पुलवामा हमले में फायदा लेने का आरोप भी लगाया है।