कमलनाथ

राज्य की वर्तमान सरकार ने इस साल लगभग साढ़े पांच लाख प्रधानमंत्री आवास बनाकर प्रमाण-पत्र वितरित करने का लक्ष्य रखा है, बीते साल अर्थात वर्ष 2018 में साढ़े तीन लाख आवास के प्रमाण-पत्र ही बांटे जा सके थे।

एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी ट्वीट कर कहा, 'हमीदिया में अपना इलाज कराने का आपका फैसला प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा, मैं यह चाहता हूं कि जो सुविधा आपको वहां मिले, वही आमजन को भी मिले।'

मध्य प्रदेश में योग दिवस पर आयोजित सामूहिक समारोह में मुख्यमंत्री कमलनाथ के हिस्सा न लेने पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तंज कसा और कहा कि कमलनाथ ने संकीर्ण मानसिकता का परिचय दिया है।

मध्य प्रदेश में शिक्षकों के तबादले अब सीधे आवेदन देने पर नहीं, बल्कि ऑनलाइन आवेदन करने पर ही होंगे। इसके लिए राज्य का स्कूली शिक्षा विभाग नीति बनाने में लग गया है।

राजधानी के कमला नगर क्षेत्र में मासूम बालिका के परिजनों से मुलाकात करने के बाद बुधवार को महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने संवाददाताओं से कहा, यह घटना हर किसी को डराने के साथ आक्रोशित कर देने वाली है।

उज्जैन में कमलनाथ के रिश्तेदारों की आवभगत पर भाजपा ने दिया ये बयान

लोकसभा चुनाव के बाद से ही अटकलें लगाई जा रही हैं कि मध्य प्रदेश में सरकार गिर सकती है। इन्हीं अटकलों के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सभी मंत्रियों को सावधान रहने के निर्देश दिए हैं। कमलनाथ ने सभी मंत्रियों को दो टूक कहा कि हमें विपक्ष की साजिशों को नाकाम करना है। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह के बिखराव की बातों का सब मिलकर खंडन करें और सभी एकजुटता दिखाएं, यह विपक्ष को भी नजर आना चाहिए।

चौहान ने एक ट्वीट में सलाह देते हुए लिखा, "कांग्रेस के बुद्धिजीवी नेता वंशवाद की राजनीति से बाहर निकलें वर्ना इतना बड़ा इतिहास रखने वाली पार्टी का अस्तित्व ही समाप्त हो जाएगा।"

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार देर शाम को पूर्व मुख्यमंत्री चौहान को पत्र लिखकर कहा, "17 दिसंबर 2018 को पदभार ग्रहण करते ही सबसे पहला आदेश किसानों का दो लाख तक का कर्ज माफ करने का जारी किया गया।

बता दें कि देश के विभिन्न समाचार माध्यमों ने जो एग्जिट पोल या सर्वे के अनुसार अनुमान जारी किए हैं, उसके मुताबिक भाजपा को एक बार फिर पूर्ण बहुमत मिल रहा है।