करतारपुर कॉरिडोर

सभी समुदाय के भारतीय श्रद्धालु करतारपुर कॉरिडोर का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इस यात्रा के लिए वीजा फ्री होगा। श्रद्धालुओं को केवल अपना वैध पासपोर्ट ले जाना होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9 नवंबर को पाकिस्तान के श्री करतारपुर साहिब में बहुप्रतीक्षित करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे। मोदी भारतीय पक्ष में एकीकृत चेक पोस्ट का उद्घाटन करेंगे।

समझौते पर दस्तखत करने की प्रक्रिया के दौरान भी भारत ने पाकिस्तान सरकार से एक बार फिर श्रद्धालुओं से वसूली जाने वाली 20 डॉलर की सर्विस फीस के बारे में फिर विचार करने को कहा था। मगर पाकिस्तान नहीं माना।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को घोषणा करते हुए कहा कि करतारपुर परियोजना अपने अंतिम चरण में है। उन्होंने कहा कि यह परियोजना 9 नवंबर को जनता के लिए खोली जाएगी।

पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने कहा कि वह उन्हीं श्रद्धालुओं को मत्था टेकने देगी जो 1500 रुपये का भुगतान करेंगे, बिना पैसे दिए श्रद्धालु दर्शन नहीं कर पाएंगे। यानी पैसे नहीं तो दर्शन नहीं। बता दें कि भारत मुफ्त दर्शन की मांग करता आया है।

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे। अपने ट्वीट में हरसिमरत ने बताया है कि 8 नवंबर को पीएम मोदी उद्घाटन करेंगे।

पाकिस्तान ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को उद्घाटन समारोह में शामिल होने का न्योता दिया है और इसका औपचारिक तौर ऐलान भी किया गया।

गुरुवार को दिल्ली पहुंचे कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भी गुरु नानकदेव के 550वें प्रकाश पर्व के कार्यक्रम में शामिल होने का न्योता दिया है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक वीडियो संदेश में बताया कि पाकिस्तान ने करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेने के लिए मनमोहन सिंह को आमंत्रित करने का फैसला किया है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉक्टर मोहम्मद फैसल ने कहा था कि पाकिस्तान सरकार करतारपुर कॉरिडोर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति से सुविधा शुल्क लेगी। यह रकम 20 यूएस डॉलर के बराबर होगी।