करतारपुर कॉरिडोर

भारत-पाकिस्तान के बीच हुए समझौते के बाद करतारपुर कॉरिडोर के जरिए रोजाना 5000 श्रद्धालु दर्शन के लिए जा सकेंगे। विशेष मौकों पर ज्यादा श्रद्धालु भी यहां पहुंच सकेंगे।

एनएचएआई में मुख्य अभियंता टी एस चहल ने कहा कि यह बैठक करीब दो घंटे तक चली जिसमें गलियारे संबंधी विभिन्न तकनीकी पहलुओं पर बातचीत की गई।

करतापुर कॉरिडोर को लेकर भारत ने पाकिस्तान के सामने सितंबर के पहले हफ्ते में बैठक का प्रस्ताव रखा है। भारत ने यह प्रस्ताव ऐसे समय में रखा है जब जम्मू कश्मीर को लेकर दोनों देशों के रिश्तों खासे तनावपूर्ण है।

अब सिद्धू को लोक इंसाफ पार्टी(लोकपा) की तरफ से ऑफर दिया गया है और साथ ही 2022 में होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में सीएम का चेहरा बनाने को बारे में भी कहा है।

बैठक में भारत ने पाकिस्तान के सामने श्रद्धालुओं के लिए वीजा मुक्त यात्रा की मांग रखी है।

गोपाल सिंह चावला अब करतारपुर कॉरिडोर कमेटी का भी सदस्य नहीं है। करतारपुर कॉरिडोर कमेटी में गोपाल सिंह चावला को शामिल करने पर भारत ने सख्त नाराजगी जताई थी।

करतारपुर कॉरिडोर पर लगातार हो रहे खिचतान के बीच भारत ने एक बार फिर से पाकिस्तान को इस मुद्दे पर बातचीत करने के लिए नई तारीख सुझाई है। भारत ने नए शीरे से बातचीत के लिएए पाकिस्तान को 11-14 जुलाई की तारीख का प्रस्ताव दिया है।

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर हाल ही में हुई मीटिंग बेनतीजा साबित हुई थी, तो वहीं पाक की तरफ से बयान आया है कि कॉरिडोर 30 सितंबर तक बनकर तैयार हो जाएगा। दावा किया गया है कि वहां 90 फीसदी काम पूरा कर लिया गया है।

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर दोनों देशों खासकर भारत के लिए बुरी खबर आई है। बता दें कि पाकिस्तान के गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत के डेरा बाबा नानक से जोड़ने वाले महत्वाकांक्षी करतारपुर गलियारे को लेकर आम राय नहीं बन सकी। परियोजना में उस समय रुकावट आ गई जब दोनों देशों के तकनीकी विशेषज्ञों के बीच रावी नदी के ऊपर पुल निर्माण पर सहमति नहीं बन पाई।

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच गुरुवार को अहम बैठक हुई। ये बैठक अटारी-वाघा सीमा पर भारत की तरफ से हुई। भारतीय की ओर से केंद्रीय गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, बीएसएफ, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग विकास प्राधिकरण और पंजाब सरकार के अफसर शामिल हुए। इस परियोजना पर दोनों देशों द्वारा सहमति जताने के तीन महीने बाद यह पहली बैठक थी।