कर्नाटक

 कर्नाटक में पिछले 19 घंटों में कोरोनावायरस जांच रिपोर्ट में 122 लोगों को पॉजिटिव पाया गया, जिसमें से 108 पॉजिटिव मामले महाराष्ट्र से लौटने वालों के हैं। राज्य में अब कोरोनावायरस मामलों की संख्या बढ़कर 2,405 हो गई है। इसकी जानकारी अधिकारियों ने बुधवार को दी। नए मामलों की रिपोर्ट मंगलवार शाम पांच बजे से बुधवार दोपहर तक की गई है।

दरअसल कर्नाटक के शिमोगा जिले में सोनिया गांधी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। एफआईआर में आरोप लगाया गया है कि कांग्रेस पार्टी ने सोशल मीडिया पर पीएम केयर्स फंड को लेकर गलत जानकारी प्रसारित की है।

सोमवार को नाई की दुकानों के साथ ही सैलून भी खुल गए। सैलूनों में पूरी सावधानी बरतते हुए कर्मचारियों ने काम करना शुरू किया। यहां पर कर्मचारियों के साथ ही ग्राहक को भी मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है।

कोरोना को फैलने से रोकने के लिए देश में लॉकडाउन लगाया गया। इस बीच कर्नाटक में एक कपल की शादी के बाद लॉकडाउन लग गया। लॉकडाउन में रियायत मिलने के बाद दोनों बाइक पर घूमने निकले। इस दौरान हेमवती नदी पर सेल्फी लेने के चक्कर में दोनों नदी में गिरकर मर गए।

कर्नाटक सरकार ने किसानों, फूल उत्पादकों, धोबी, नाई, ऑटो-रिक्शा और टैक्सी चालकों को त्वरित राहत पहुंचाने के लिए बुधवार को 1,610 करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की।

राहुल गांधी ने मंगलवार को एक ट्वीट में कहा, "वायरस से निपटने के दौरान जोन के संदर्भ में सोचें। अर्थव्यवस्था को फिर से खोलने (पुनरुद्धार) के लिए आपूर्ति श्रृंखलाओं (सप्लाई चेन) के बारे में सोचें।"

कर्नाटक में कोविड-19 संक्रमण से ग्रस्त एक 80 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई, जिसके बाद से राज्य में महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है।

कर्नाटक में कोरोनावायरस का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। जिससे राज्य में इस महामारी से 16 लोगों की मौत हो गई है। वहीं संक्रमण के 5 नए मामले सामने आए है। इसके साथ ही संक्रमितों की कुल संख्या 395 हो गई है।

कर्नाटक में कोविड -19 के कारण एक और व्यक्ति की मौत के साथ इस बीमारी से मरने वालों की संख्या छह हो गई है। वहीं, राज्य में कोरोना पॉजीटिव मामलों की संख्या 191 तक पहुंच गई है।

कोरोनावायरस की वजह से फैली महामारी से बचाव के लिए देशभर में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया है। ऐसे में गरीब परिवारों की मदद के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं से आग्रह किया गया था