कांग्रेस नेता अलका लांबा

हाईकोर्ट(High court) के आदेश के बाद गोरखपुर(Gorakhpur) के डॉ. कफील खान(Kafeel Khan) को जेल से रिहा कर दिया गया है। इसके अलावा अदालत ने डॉ. कफील खान पर लगे रासुका(NSA) को भी हटाने का निर्देश दिया है।

अलका लंबा के खिलाफ पुलिस ने धारा 504, 505(1)(b), 502(2) और 67 के तहत केस दर्ज किया है। ट्विटर पर लांबा की ओर से शेयर किए गए एक वीडियो में वह पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अभद्र  टिप्पणी करती हुई देखी गईं थी।

सेंगर की बेटी का कहना है कि इस ट्वीट से परिवार का मानसिक उत्पीड़न हुआ है। मानहानि भी हुई है। सुनवाई से पूर्व दबाव बनाने का आपराधिक कृत्य किया गया है। एसपी विक्रांतवीर ने बताया कि पूर्व विधायक की बेटी ने उन्हें पत्र दिया है।