कालाधन

स्वीस बैंक ने भारत सरकार को भारतीय नागरिकों के खाते के बारे में जानकारियों की पहली सूची सौंप दी है। दोनों देशों के बीच हुए ऑटोमैटिक एक्सचेंज ऑफ इन्फॉर्मेशन फ्रेमवर्क (AEOI) के तहत यह संभव हो सका है।

स्विट्जरलैंड ने आटोमेटिक सूचना आदान प्रदान व्यवस्था के तहत इसी महीने में सूचनाओं की पहली लिस्ट भारत को सौंप दी है। आगे से यह जानकारी हर माह भारत सरकार को मिलेगी।

पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा समितियों के ज़रिए काले धन को सफेद करने के एक बड़े रैकेट का पर्दाफाश हुआ है। आयकर विभाग की जांच में चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं।

नई दिल्ली। देश की आम जनता को ‘मैंगो पीपल’ कहने वाले और रातो-रात अमीर बनने वाले कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल...

नई दिल्ली। अपने बयानों के चलते अक्सर चर्चाओं में रहने वाले महाराष्ट्र के नेता और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य...