किसान कानून

Farmer Protest: दरअसल आंदोलन को अक्टूबर तक ले जाने को लेकर किसान नेताओं में आपसी सहमति नहीं बन पा रही है। इसी के चलते किसान नेताओं में आपसी मतभेद नजर आ रहे हैं।

Rail Roko Abhiyan: प्रयागराज(Prayagraj) में, किसानों को रेलवे स्टेशन में प्रवेश करने से रोका गया। उन्होंने बाहर सड़क पर खड़े होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। उन्होंने बाद में एक जुलूस निकाला गया, जिसमें मांग की गई कि खेत कानूनों को निरस्त किया जाए।

Tara Gandhi Bhattacharya : इस दौरान राकेश टिकैत(Rakesh Tikait) ने मंच से कहा कि, "किसान आंदोलन होगा और चलता रहेगा, चाहे गर्मी हो या बरसात। गर्मियों में बॉर्डर पर जनरेटर लगाए जाएंगे और जिस तरह गांव गांव से पानी आया है, उसी तरह डीजल भी गांव गांव से आएगा।"

Farm Laws: किसानों से कृषि कानूनों को लेकर पीएम मोदी(PM Modi) ने कहा कि, "कानून बनने के बाद किसी भी किसान से मैं पूछना चाहता हूं कि पहले जो हक और व्यवस्थाएं उनके पास थी, उनमें से कुछ भी इस नए कानून ने छीन लिया है क्या?

Greta Thunberg: युनाइटेड नेशन्स सस्टेनेबल एनर्जी फॉर ऑल के पूर्व मुख्य परिचालन अधिकारी मोहिंदर गुलाटी ने थनबर्ग को एक पत्र लिखा है। इस पत्र को उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासचिव को भी प्रेषित किया है।

Farmer Protest: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के अध्यक्ष शरद पवार(Sharad Pawar) ने सचिन को अपने क्षेत्र को छोड़कर किसी अलग विषय पर बोलने में सावधानी बरतने की सलाह दी है.

Chakka Jam: इसके अलावा किसान नेता दर्शन पाल ने चक्का जाम को लेकर कहा कि, 'चक्का जाम' सफल और शांतिपूर्ण रहा। कर्नाटक और तेलंगाना में कुछ समस्या सामने आई है, कुछ लोगों को हटाया गया है।

Darshan Pal Singh: किसान नेता दर्शन पाल ने चक्का जाम को लेकर कहा कि, 'चक्का जाम' सफल और शांतिपूर्ण रहा। कर्नाटक और तेलंगाना में कुछ समस्या सामने आई है, कुछ लोगों को हटाया गया है।

Ghazipur Border: तकरीबन 2 महीने से दिल्ली-यूपी(Delhi-UP) स्थित गाजीपुर बॉर्डर पर किसान तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर धरने पर बैठे हैं।

Chakka Jam: दरअसल न्यूज एजेंसी एएनआई ने लुधियाना में हुए चक्का जाम(Chakka Jam) की एक तस्वीर जारी की है, इस तस्वीर में एक ट्रैक्टर पर एक झंडा लगा हुआ है जो जरनैल सिंह भिंडरावाले(Bhindranwale) की छवि जैसी दिखाई दे रही है।