किसान

केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने रविवार को कहा कि पीएम-किसान योजना के तहत 67.82 लाख से ज्यादा किसान सीधा लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) योजना से वंचित रह जाएंगे।

सर्दी के मौसम में विस्तार और मार्च के शुरू में बारिश ने इस साल गेहूं का रिकॉर्ड उत्पादन होने की उम्मीद जगाई है, मगर किसान इस बात से चिंतित है कि उत्पादन ज्यादा होने से उनको फसल का वाजिब दाम नहीं मिल पाएगा।

इस निधि की शुरुआत के लिए पीएम मोदी ने गोरखपुर की धरती को चुना। पीएम मोदी ने कहा कि "अब किसानों को खाद खरीदने के लिए, बीज खरीदने के लिए, दवा खरीदने के लिए किसानों को परेशान नहीं होना पड़ेगा।"

रविवार को किसानों को इस योजना के जरिए मिलने वाले 6 हजार रुपये की पहली किश्त ट्रांसफर की जाएगी। लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार के इस कदम को गेमचेंजर माना जा रहा है।

मध्य प्रदेश में करीब डेढ़ दशक बाद सत्ता में आई कांग्रेस अपनी ताकत को पूरी तरह से बढ़ाने में जुट चुकी है। कांग्रेस की ओर से बीजेपी के कई नेताओं के संपर्क में होने के दावे किए जा रहे हैं।

छत्तीसगढ़ की सत्ता में 15 साल बाद लौटी कांग्रेस ना सिर्फ किसानों को अपने साथ मजबूती से जोड़े रखना चाहती है, बल्कि कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को पहली बार प्रदेश के दौरे पर पहुंचे

नई दिल्ली। जहां एक तरफ मोदी सरकार ने सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण का लाभ देना का फैसला किया है।...

नई दिल्ली। देश में हाल ही में पांच राज्‍यों में संपन्‍न हुए विधानसभा चुनावों में प्रमुख मुद्दे किसानों की समस्‍याएं...

नई दिल्ली। किसानों की आत्महत्या को लेकर मोदी सरकार पर कांग्रेस आए दिन हमलावर रहती है लेकिन अब राजस्थान में कांग्रेस...

नई दिल्ली। मोदी सरकार किसानों की बेहतरी और उनकी आय को बढ़ाने के लिए एक ऐसी योजना बना रही है...