कृषि बिल

Kisan Andolan : कृषि कानूनों (Farmers Law) के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Farmer Protests) बुधवार को भी जारी है। इस प्रदर्शन को आज 50 दिन पूरे हो गए हैं। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने इस मसले पर सुनवाई करते हुए कृषि कानूनों को अपने अगले आदेश तक लागू करने पर रोक लगा दी है।

Supreme Court: केंद्र सरकार(Central Government) द्वारा पास किए गए तीनों कृषि कानून(Farm Laws) के लागू होने पर सुप्रीम कोर्ट ने आज रोक लगा दी है। कोर्ट ने मंगलवार को ये फैसला सुनाया, साथ ही अब इस मसले को सुलझाने के लिए कमेटी का गठन कर दिया गया है।

Farm Laws: बता दें कि इससे पहले भी कृषि भवन में 22 दिसंबर को किसान संघर्ष समिति और भारतीय किसान यूनियन के नेताओं के साथ केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र​ सिंह तोमर(Narendra Singh Tomar) की बैठक हुई थी।

Farmer Protest: स्वरा(Swara Bhaskar) के इस ट्वीट(Tweet) पर उन्हें ट्रोल करने वाली प्रतिक्रियाएं मिली। हालांकि कुछ लोगों ने उनके इस कदम की सराहना की है तो कई लोगों ने उनके इस कदम पर गुस्‍सा जाहिर किया है।

Farmers Protest: केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने यह चिट्ठी किसानों के नाम संबोधन में लिखी है। इस पत्र में नरेंद्र सिंह तोमर ने किसान भाईयों को संबोधित करते हुए लिखा है। सभी किसान भाइयों और बहनों से मेरा आग्रह ! "सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास" के मंत्र पर चलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमारी सरकार ने बिना भेदभाव सभी का हित करने का प्रयास किया है। विगत 6 वर्षों का इतिहास इसका साक्षी है।

Delhi Assembly: एक तरफ जहां नए कृषि कानून (Agricultural law) के विरोध में किसानों का आंदोलन (Farmer Protest) गुरुवार को 22वें दिन जारी है। तो वहीं कुछ प्रमुख दल किसान आंदोलन की आड़ में अपनी राजनीति रोटियां सेंकने में लगे हुए है।

Farmers Protest: दिल्ली में किसान संगठन कृषि बिल को लेकर आंदोलन छेड़े हुए हैं तो वहीं गुजरात की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सिखों से मुलाकात कर इस प्रदर्शन को लेकर एक अलग संदेश देने की कोशिश की। अब पीएम नरेंद्र मोदी मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)के किसानों से मुखातिब होंगे।

PM Modi Meet Sikh: पीएम मोदी(PM Modi) ने किसानों को आश्वस्त करते हुए कहा कि, सरकार किसानों(Farmer Protest) के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है, किसानों को आश्वस्त करता रहूंगा और उनकी चिंताओं का निराकरण करूंगा।

Sikh for Justice Group: हाल ही में खालिस्तानी(Khalistani) चरमपंथी संगठन सिख फॉर जस्टिस में शामिल 16 विदेशियों के खिलाफ एनआईए ने चार्जशीट भी दाखिल की है। बता दें कि भारत(India) की मल्टी एजेंसी सेंटर की रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि सिख फॉर जस्टिस पंजाब-हरियाणा बॉर्डर के शम्भू गांव में साजिश रच रहा है।

Kisan Union: इस आंदोलन में कुछ किसान संगठनों ने सरकार मांग रखी है कि सरकार दिल्ली हिंसा(Delhi Riots) के आरोपियों शरजील इमाम(Sharjeel Imam) और उमर खालिद को भी रिहा करे, लेकिन इस मांग को लेकर भी किसान संगठन अलग-अलग राय रखते हैं और इस मुद्दे पर बंटे हुए नजर आ रहे हैं।