केंद्र सरकार

केंद्र सरकार ने दसवीं पास छात्रों के लिए ‘किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना’ लेकर आई है। जिसके मुताबिक दसवीं पास छात्रों को न सिर्फ सश्क्त किया जाएगा, बल्कि हर महीने छात्रों 5 से 7 हजार रुपये फेलोशिप दी जाएगी।

केंद्र सरकार देश के छात्रों के लिए काफी काम कर रही है। छात्र देश का भविष्य हैं ऐसे में सरकार इनके भविष्य को मजबूत बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही। इसी दिशा में सरकार दसवीं पास छात्रों के लिए एक नई योजना लेकर आई है।

ओटीटी प्लेटफॉर्म (OTT Platform) पर वेब सीरीज (Web Series) में बढ़ती अश्लीलता के चलते लोग इस पर लगाम लगाने की बात कह रहे हैं। जिसपर अब केंद्र सरकार सख्त होने वाली है।

देश में कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन (Farmers Protest) जारी है। इस पर देश समेत विदेश में भी राजनीति होने लगी। बीते दिनों कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau) ने कृषि कानूनों के खिलाफ बयान दिया था। जिसपर भारत में कड़ा विरोध जताया है।

Farmers Protest: बता दें कि मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने इस मसले पर सुनवाई करते हुए कृषि कानूनों को अपने अगले आदेश तक लागू करने पर रोक लगा दी। इसके अलावा कोर्ट ने इस मसले को सुलझाने के लिए एक चार सदस्यीय समिति का गठन किया था।

Kisan Andolan: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसानों का आंदोलन आज 50वें दिन में प्रवेश कर गया है। कड़ाके की सर्दी में हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हैं। वहीं सिंघु बॉर्डर पर बुधवार शाम को प्रदर्शनकारी किसानों ने कृषि कानूनों की प्रतियां जलाईं।

Farmers Protest: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसानों का आंदोलन आज 50वें दिन में प्रवेश कर गया है। कड़ाके की सर्दी में हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हैं।

Kisan Andolan : कृषि कानूनों (Farmers Law) के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Farmer Protests) बुधवार को भी जारी है। इस प्रदर्शन को आज 50 दिन पूरे हो गए हैं। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने इस मसले पर सुनवाई करते हुए कृषि कानूनों को अपने अगले आदेश तक लागू करने पर रोक लगा दी है।

Supreme Court: केंद्र सरकार(Central Government) द्वारा पास किए गए तीनों कृषि कानून(Farm Laws) के लागू होने पर सुप्रीम कोर्ट ने आज रोक लगा दी है। कोर्ट ने मंगलवार को ये फैसला सुनाया, साथ ही अब इस मसले को सुलझाने के लिए कमेटी का गठन कर दिया गया है।

PM Modi in Gujarat: भूकंप ने भले कच्छ के लोगों के घर गिरा दिए थे, लेकिन इतना बड़ा भूकंप भी यहां के लोगों के मनोबल को नहीं तोड़ पाया। कच्छ के लोग फिर खड़े हुए, आज देखिए कि इस क्षेत्र को उन्होंने कहां से कहां पहुंचा दिया है। आज कच्छ की पहचान बदल गई है।