केजरीवाल सरकार

दिल्ली में ऑटो रिक्शा चालकों की मानें तो वो केजरीवाल सरकार से काफी खफा हैं। उनका मानना है कि दिल्ली में महिलाओं के लिए बसों का सफर फ्री करना ऑटो चालकों के लिए नुकसानदायक है।

इस वीडियो में जानिए कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार द्वारा मिल रहे फ्री-WiFi की स्पीड कितनी है और इसको कैसे अपने मोबाइल से कनेक्ट कर सकते हैं।

दिल्ली में केजरीवाल सरकार भले ही अपने पांच साल के कामों के दम पर वापसी करने की बात कर रही हो लेकिन आम लोगों की राय इससे काफी अलग है।

दिल्ली में कभी अरविंद केजरीवाल को खुलकर सपोर्ट करने वाले ऑटो रिक्शा चालकों ने अब केजरीवाल के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। ऐसा दावा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिसमें दिल्ली के ऑटो रिक्शा चालकों ने अपनी गाड़ियों पर केजरीवाल सरकार के खिलाफ पोस्टर्स लगाए हैं।

अमित शाह ने कहा कि, 'दिल्लीवासियों, 8 तारीख को ये सरकार बदल दो, मैं आपसे कह कर जाता हूं कि जहां झुग्गी है, वहीं मकान देने का काम मोदी सरकार करने वाली है।'

गणित का ये हाल देखकर हैरानी होती है कि IITian CM के राज में गणित शिक्षा को लेकर भी सरकार का रुख नेगेटिव ही है। जोर रिजल्ट बेहतर करने पर ही है, गणित शिक्षा को बढ़ावा देने पर नही।

केजरीवाल की मुसीबतों की पिटारा यही नहीं बंद होता, शाहीन बाग में हो रहे विरोध प्रदर्शन पर मनीष सिसोदिया का समर्थन करने वाला बयान भी आम आदमी पार्टी की परेशानी बढ़ा सकता है।

इस वीडियो में एक शख्स बात करते हुए केजरीवाल सरकार के कामों की सराहना कर रहा है, तभी उसके बगल एक शख्स ने उसे केजरीवाल का एजेंट बता दिया। शख्स ने कहा कि, आप तो ऐसे बोल रहे हो, जैसे उसने(केजरीवाल) एजेंट छोड़ रखा हो।

बच्चे जब प्राइवेट में जा रहे है तो बीते दिनों 700 कम फीस लेकर चल रहे प्राइवेट स्कूलों को बंद करने की बात कही। यही नही, दो चार उदाहरण लेकर झूठी खबरें फैलाया गया कि प्राइवेट से बच्चे सरकारी में आ रहे है।

बैठक में केजरीवाल सरकार के फ्री पानी योजना की काट के लिए तय किया गया कि दिल्ली की जनता को बताया जाए कि भाजपा सरकार शुद्ध पानी लोगों को मुहैया करायेगी। इसलिए पानी के लिए नारा होगा 'फ्री पानी नहीं, साफ पानी चाहिए।'