कैप्टन अमरिंदर सिंह

नई दिल्ली। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के खिलाफ कांग्रेस के दो राज्यसभा सदस्यों प्रताप सिंह बाजवा तथा शमशेर सिंह...

लॉकडाउन से राज्य को हुए नुकसान को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि राज्य को लॉकडाउन और कर्फ्यू की वजह से 3360 करोड़ रुपये का मासिक रेवेन्यू घाटा उठाना पड़ रहा है।

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा 'पीजीआई में सब इंस्‍पेक्‍टर हरजीत सिंह के हाथ का ऑपरेशन हुए दो हफ्ते पूरे हो चुके हैं।

पटियाला जिले में रविवार को लोगों के एक समूह ने कथित तौर पर हमला कर एक पुलिसकर्मी के हाथ काट डाले जबकि दो अन्य पुलिस वालों को घायल कर दिया।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि भारत में कोरोनावायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं है लेकिन सावधान रहने की जरूरत है।

पंजाब में कर्फ्यू या लॉकडाउन की अवधि 30 अप्रैल तक बढ़ा दी गई है। ऐसे में लोगों को अब 20 दिन और घरों में ही रहना होगा। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंत्रिमंडल की बैठक में सर्वसम्मित से यह फैसला लिया।

कोरोनावायरस के संकट से वैसे तो पूरा देश परेशान है, लेकिन पंजाब में मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। दरअसल, पंजाब में अब तक सिर्फ 2877 लोगों का सैंपल इकट्ठा किया गया है।

पंजाब की अमरिंदर सिंह सरकार एक नए विवाद से गिर गई है। यह विवाद फोन टैपिंग का है। आरोप लगाने वाले कोई और नहीं बल्कि कांग्रेस के अपने ही एमएलए हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू ने विदेश मंत्रालय को पत्र लिखकर पाकिस्तान जाने की अनुमति मांगी थी। उन्होंने गुरुवार को तीसरी बार विदेश मंत्री एस जयशंकर को खत लिखा और जाने की अनुमति देने की बात कही थी।

सीमा पार करतारपुर गलियारे (कॉरिडोर) के बहुप्रतीक्षित उद्घाटन से दो दिन पहले भारत ने पाकिस्तान द्वारा जारी किए गए गलियारे के आधिकारिक प्रचार वीडियो में जरनैल सिंह भिंडरावाले सहित तीन सिख अलगाववादी नेताओं की मौजूदगी पर चिंता व्यक्त की है