कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब की अमरिंदर सिंह सरकार एक नए विवाद से गिर गई है। यह विवाद फोन टैपिंग का है। आरोप लगाने वाले कोई और नहीं बल्कि कांग्रेस के अपने ही एमएलए हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू ने विदेश मंत्रालय को पत्र लिखकर पाकिस्तान जाने की अनुमति मांगी थी। उन्होंने गुरुवार को तीसरी बार विदेश मंत्री एस जयशंकर को खत लिखा और जाने की अनुमति देने की बात कही थी।

सीमा पार करतारपुर गलियारे (कॉरिडोर) के बहुप्रतीक्षित उद्घाटन से दो दिन पहले भारत ने पाकिस्तान द्वारा जारी किए गए गलियारे के आधिकारिक प्रचार वीडियो में जरनैल सिंह भिंडरावाले सहित तीन सिख अलगाववादी नेताओं की मौजूदगी पर चिंता व्यक्त की है

करतारपुर कॉरिडोर के उद्धाटन से पहले पाकिस्तान की सरकार ने एक वीडियो सॉन्ग रिलीज किया है, जिसमें खालिस्तानी अलगाववादी जरनैल सिंह भिंडरावाले व कई अन्य नेताओं की तस्वीरों के साथ कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू भी नजर आ रहे हैं।

इस संबंध में सिद्धू ने दोनों नेताओं को चिट्ठी लिखी है। सिद्धू पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होना चाहते हैं।

प्रदूषण के इस हद तक बढ़ने का कारण पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में किसानों द्वारा पराली जलाना है।

लेकिन इस लिस्ट में जो सबसे ज्यादा चौंकाने वाला है वो है नवजोत सिंह सिद्धू का पायदान। दरअसल, कांग्रेस ने अपनी लिस्ट में सिद्धू को 29वें नंबर पर रखा है।

गुरुवार को दिल्ली पहुंचे कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भी गुरु नानकदेव के 550वें प्रकाश पर्व के कार्यक्रम में शामिल होने का न्योता दिया है।

सिद्धू को लेकर कांग्रेस की मुसीबतें कम होने का नाम नही ले रहीं हैं। पंजाब का असंतोष अब दिल्ली पहुंच चुका है। जानकारी के मुताबिक सिद्धू को गांधी परिवार राष्ट्रीय स्तर पर बड़ी ज़िम्मेदारी देकर पार्टी में जोड़े रहना चाहता है।

अब जो बात सामने आई है उसके मुताबिक, पंजाब कांग्रेस सरकार में मंत्री रह चुके नवजोत सिंह सिद्धू को दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जा सकता है।