कोटा

Rajasthan: टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद अजहरुद्दीन (Former Cricketer Mohammad Azharuddin) की कोटा में गाड़ी पलट गई है। यह हादसा लालसोट कोटा मेगा हाईवे (Kota Mega Highway) पर सूरवाल (Soorwal) थाने के पास हुआ है।

Om Birla: श्रीकृष्‍ण बिरला(Shirkrishna Birla) 91 साल के थे और वो काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। बता दें कि ओम बिरला के पिता ने राजस्‍थान(Rajasthan) के कोटा(Kota) में अंतिम सांस ली।

सीएम योगी ने कोटा के बच्चों की तरह ही नेपाली छात्रों के लिए तत्काल बस की व्यवस्था करवाई और सभी छात्रों को सकुशल और सुरक्षित तरीके से भारत-नेपाल सीमा पर पहुंचाया।

कोटा से बरौनी पहुंची छात्रा शबनम भी कहती है कि कोटा पढ़ने गई थी लेकिन पिछले कुछ दिनों से वहं तनाव बना हुआ था, जिस कारण पढ़ाई भी नहीं हो रही थी। अब यहां आकर तनाव कम हआ है।

राजस्थान के कोटा से 540 छात्र दिल्ली पहुंच गये हैं। 40 बसों में सवार ये छात्र सुबह 5 बजे दिल्ली के कश्मीरी गेट बस अड्डे पर पहुंचे। सभी छात्रों का मेडिकल परीक्षण कर उनको अपने अपने घरों को भेज दिया गया है।

राजस्थान के कोटा से कई स्टूडेंट्स को रोडवेज की बसों से प्रयागराज लाया गया। जिसमें 13 छात्राएं और 31 छात्र हैं।

प्रियंका गांधी ने वीडियो सन्देश में कहा, "मैं आग्रह करना चाहती हूं कि एक हेल्पलाइन हो, हजार लोगों का कंट्रोलरूम हो। कम से कम ये लोग अपनी समस्याओं को बता पायें। ताकि दूसरी सरकारों से इनकी मदद हो पाए।"

उत्तर प्रदेश के करीब 7,500 छात्र कोटा शहर के विभिन्न कोचिंग संस्थानों में मेडिकल और इंजीनियरिंग की कोचिंग कर रहे थे और कोरोना महामारी के कारण छात्रावास और गेस्ट हाउस में फंसे हुए थे। ये छात्र अपने अपने घरों को जाने के लिये काफी परेशान थे और सोशल मीडिया पर लगातार अपील कर रहे थे।

इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा ख्याल रखा जाएगा और एक बस में मात्र 30 छात्रों को भी बैठाया जाएगा। कोटा जिले के एक अधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन ने भी 100 बसों का इंतजाम किया है, ताकि अगर यूपी सरकार की बसें कम पड़े तो इनका इस्तेमाल किया जा सके।

राजस्‍थान के कोटा में कुछ महिलाओं द्वारा प्‍लास्टिक बैग मे थूककर इसे कुछ घरों में फेंकने की तस्‍वीरें सामने आई। इस खबर के आने के बाद से लोग काफी परेशान हो गए।