कोरोनावायरस दिल्ली

दिल्ली सरकार ने कहा है कि कोरोना वायरस के हल्के लक्षण और बिना लक्षण वाले मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने के 24 घंटे के अंदर छुट्टी दे दी जाए और जिला निगरानी अधिकारी को रिपोर्ट की जाए।

कोरोना संकट के लगातार बढ़ते मामलों और दिल्ली सरकार की ओर से कोरोना रोगियों के लिए बेड की उपलब्धता के बारे में लंबे दावे करना वास्तविकता से परे है।

दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को निर्देश दिया है कि अस्पतालों और नर्सिंग होम में covid-19 के मरीजों के बेड रिजर्वेशन मामले में जल्द फैसला लें।

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले अब तेजी पकड़ने लगे हैं। लगातार बढ़ रहे मामले केंद्र और राज्य सरकार के लिए चिंताजनक हैं।

दिल्ली में शुरू की गई परिवहन सेवा में वाहन चालकों को सरकार के आदेशों का कड़ाई से पालन करने को कहा गया है। आदेश का पालन नहीं करने पर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों को लेकर प्रेसवार्ता कर रहे हैं। दिल्ली में चौथे चरण के दिशा निर्देशों को जारी करने के लिए दिल्ली सरकार ऐलान कर रही है।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा, "पहले लगता था कि गर्मी शुरू होगी, तो कोरोना चला जाएगा। हमें विश्वास था कि एक मई इसका आखरी दिन होगा और हमेशा के लिए चला जाएगा

रेल सर्विस शुरू होने और एयर इंडिया की तरफ से हवाई सेवा की शुरुआत के ऐलान के बाद अब लॉकडाउन 4 में दिल्ली मेट्रो भी परिचालन शुरू कर सकती है।

17 मई के बाद कोरोना वायरस लॉकडाउन में कितनी छूट मिलनी चाहिए, कितनी नहीं इसको लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जनता से सुझाव मांगे हैं।

कोरोनावायरस के दिल्ली में फैलाव को लेकर राज्य सरकार बेहद चिंतित है। जिसके चलते केजरीवाल सरकार ने स्कूलों से जुड़ा एक और अहम फैसला लिया है।