कोरोना महामारी

जब राज्य में पहला कोरोनावायरस संक्रमण का मामला दर्ज किया गया था तब से सरकार काम कर रही है और लगातार इस कोशिश में हैं कि कोरोना के प्रसार को रोका जा सके और संक्रमित लोगों को समुचित इलाज मुहैया हो।

कोरोनावायरस के संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर लगातार बढ़ रही है और संक्रमण से लोगों के मरने की दर वैश्विक औसत से बहुत नीचे बनी हुई है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड-19 के सम्बन्ध में राज्य मुख्यालय तथा जनपदों में संचालित इंटीगेट्रेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सिस्टम पूरी सक्रियता से कार्य करे।

बता दें कि वैक्सीन बनाने की रेस में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी सबसे आगे है। यहां वैक्सीन का ट्रायल दूसरे फेज में पहुंच गया है। वहीं पुणे स्थित एसआईआई यहां विकसित होने वाली वैक्सीन के साथ काम कर रही है।

देश के स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराश्को ने कहा है कि कोरोनावायरस के लिए बनाई जा रही वैक्सीन का ट्रायल पूरा हो चुका है। उन्होंने कहा कि ट्रायल पूरा होने के बाद अब यह वैज्ञानिकों के ऊपर है कि वे वैक्सीन को बाजार में कब लाते हैं।

कोरोनावायरस से ठीक हो चुके मरीजों के प्लाज्मा थेरेपी से कोरोना रोगियों का इलाज किए जाने से भी मृत्यु दर में कमी नहीं आ रही है।

दिल्ली सरकार ने उपराज्यपाल अनिल बैजल को दोबारा अपने प्रस्तावों की फाइल भेजी है। दिल्ली सरकार ने प्रस्ताव रखा है कि दिल्ली में होटल, जिम और साप्ताहिक बाजार खोले जाएं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कोरोनावायरस से एक दिन में सबसे ज्यादा पिछले 24 घंटे में कुल 51,706 लोग ठीक हो गए।

देश में कोरोना संक्रमण के मौजूदा हालात को देखते हुए जल्‍द ही इस किट का निर्माण भारत में शुरू किया जाएगा। इस किट की टेक्‍नोलॉजी इजराइल की होगी और इसका निर्माण भारत में किया जाएगा।

पूरी दुनिया में कोरोना महामारी का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा हैं। इन सबके बीच अब सभी की निगाहें विभिन्न देशों में चल रहे कोरोना वैक्सीन के ट्रायल पर टिकी हैं। दुनियाभर के वैज्ञानिक हर संभव कोशिश कर कोरोना वैक्सीन खोजने में जुटे हुए हैं।