कोरोना वायरस

घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत शुक्रवार को तेजी के साथ हुई, लेकिन जल्द ही सेंसेक्स 350 अंक टूटकर 28,000 के स्तर से नीचे आ गया। निफ्टी में भी मजबूत शुरुआत के बाद उतार-चढ़ाव का दौर जारी था।

उत्तराखंड में सरकारी नौकरियों में प्रमोशन को लेकर हड़ताल पर बैठे कर्मचारी बाज नहीं आ रहे हैं। ये हड़ताली कर्मचारी कोरोना जैसी विपदा से जूझ रही राज्य सरकार को दबाव में लेकर अपना उल्लू साधने की जुगत में हैं। सरकार ने भी ऐसे अड़ियल हड़ताली कर्मचारियों से सीधे-सीधे निपटने की योजना बनाई है।

फिल्म में कोरोना जैसा ही एक वायरस दिखाया गया था जिसके चलते कई लोग अपनी जान गंवा देते हैं। सिर्फ यही नहीं फिल्म में दिखाया गया है कि ये वायरस के फैलने का कारण सूअर और चमाकादड़ का मीट है। कुछ रिपोर्ट में ऐसा दावा किया गया है कि कोरोना वायरस भी चमगादड़ के चलते फैला है।

कोरोनावायरस से संक्रमित महिला यहां की एक कंपनी में काम करती है और उसने हाल ही में मलेशिया और इंडोनेशिया की यात्रा की थी। हरियाणा में यह कोरोनावायरस का पहला मामला है।

राज्यसभा में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा हर्षवर्द्धन ने देश के सभी डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, पायलट, एयरलाइंस के कर्मचारी की जमकर सराहना की। उन्होंने कहा कि मैं धन्यवाद देता दूं जो अपनी जिंदगी को खतरे में डालकर दूसरों की जिंदगी बचा रहे हैं। विशेष रूप से उन लोगों को शुक्रिया अदा करता हूं जो इस गंभीर स्थिति में दुनिया के अन्य हिस्सों से भारतीयों को वापस लाए।

विरोध प्रदर्शन कर रहे शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के खिलाफ शुरुआत से ही हमलावर रहे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता कपिल मिश्रा ने मंगलवार को एक बार फिर उन पर निशाना साधा। इस बार कोविड-19 के बढ़ते खतरे को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मिश्रा ने ट्वीट कर कहा, "पहले उन्होंने हमारे यातायात को रोका, हमें स्कूल-अस्पताल और कार्यालय जाने से भी रोका। अब शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी आत्मघाती मिशन पर निकले आतंकवादियों की तरह व्यवहार कर रहे हैं।"

नोटिस में कहा गया है कि फ्लू के लक्षणों वाले लोगों को अपने आवासों पर नमाज अदा करना चाहिए। एएमयू परिसर में लगभग 20 मस्जिदें हैं और 20,000 छात्र और शिक्षक जो परिसर में रहते हैं, इन मस्जिदों में नमाज अदा करते हैं।

कोरोना वायरस को महामारी घोषित करने के बाद विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने जो ताजा आंकड़े पेश किए हैं उसके मुताबिक यह दुनिया के 157 देशों में फैल चुका है।

पी चिदंबरम ने कहा कि, सरकार को WHO और और ICMR अब डॉ.देवी शेट्टी की चेतावनी पर ध्यान देना चाहिए। सरकार को कई कस्बों और शहरों में आंशिक या पूर्ण तालाबंदी पर विचार करना चाहिए।

कोरोना से जीत हासिल करने वाले इस शख्स ने बताया कि उन्हें देखने डॉक्टरों की एक पूरी टीम आया करती थी। उन्हें टीम का नंबर भी दिया गया था और कहा गया कि वह 24 घंटे में किसी भी समय फोन कर सकते हैं।