कोरोना वॉरियर्स

Gujarat: गुजरात विधानसभा (Gujarat Legislative Assembly) सत्र के शुरुआत के साथ आज मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (CM Vijay Rupani) ने पूर्व राष्ट्रपति स्वर्गीय प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee), कोरोना वॉरियर्स और विधानसभा के पूर्व सदस्यों को श्रद्धांजलि अर्पित की

कोरोनावायरस (CORONAVIRUS) के खिलाफ लड़ाई में योगी आदित्यनाथ (YOGI ADITYANATH) सरकार की भूमिका की सराहना पूरे देश में हो रही है।

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कोरोना (Coronavirus) संक्रमण से जान गंवाने वाले एमसीडी के सफाई कर्मचारी राजू के परिवार से मुलाकात की और उन्हें एक करोड़ रुपये की सहायता राशी का चेक सौंपा।

सुप्रीम कोर्ट ने डॉक्टरों के क्वारनटीन अवधि को छुट्टी के तौर माने जाने के मामले में भी सवाल उठाए। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा कि इस पर केंद्र स्पष्ट जानकारी दे।

हाल ही में भारत की मिश्रित रिले टीम के जकार्ता एशिया खेलों-2018 में चार गुणा 400 स्पर्धा में जीते गए रजत पदक को स्वर्ण में बदल दिया गया था और अब इस टीम की सदस्य हिमा दास ने इस पदक को कोविड-19 योद्धाओं जिसमें, डॉक्टर,पुलिस अधिकारी शामिल हैं, उन्हें समर्पित किया है।

दिल्ली हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर मांग की गई है कि कोर्ट दिल्ली ट्रैफिक पुलिस को निर्देश दे कि वे कोरोना वारियर्स को दंडित न करें। दिल्ली पुलिस लॉक डाउन के पहले दो चरणों के दौरान लोगों के इलाज में जुटे कोरोनावायरस योद्धा डॉक्टरों के खिलाफ जारी ई-चालान को माफ करे।

पीएम मोदी ने कहा, '25 साल मतलब राजीव गांधी यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज अपने युवा होने के चरम पर है। यह उम्र और भी बड़ा सोचने और बेहतर करने की है। मुझे विश्वास है कि विश्वविद्यालय आने वाले समय में उत्कृष्टता की नई ऊंचाइयों को छूता रहेगा।'

नए कानून में चिकित्सक पैरामेडिकल स्टाफ, पुलिसकर्मियों, स्वच्छताकर्मी और सरकार द्वारा तैनात किसी भी कोरोना वॉरियर से अभद्रता या हमला करने वाले के लिए सात साल तक कैद और पांच लाख तक के जुर्माने की सजा का प्रावधान किया गया है।

दरअसल महासंकट की इस मुश्किल हालात में कोरोना वॉरियर्स ढाल बनकर हम सबकी रक्षा में डटे हुए हैं। डॉक्टरों की तरह इन्होंने भी ना ही दिन देखा और ना ही रात बस जनता की सेवा में जुटे रहे।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार, पूर्वी दिल्ली में वर्धमान अपार्टमेंट सरकार द्वारा सील हटाये जाने वाला दूसरा निषिद्ध क्षेत्र है। इससे पहले मंसारा अपार्टमेंट से सील हटायी गयी थी, यह अपार्टमेंट भी पूर्वी जिले में पड़ता है।