कोविड-19

गृह मंत्रालय द्वारा लॉकडाउन को लेकर दिए गए पूर्व आदेश को जारी रखते हुए शुक्रवार को दिए गए आदेश के अनुसार, किसानों और खेतिहर मजदूरों को खेतों में काम करने की छूट होगी। कृषि यंत्रों से संबद्ध कस्टम हायरिंग सेंटर खुले रहेंगे।

62 वर्षीय कपूर ने आगे दावा किया कि उनकी चिकित्सा स्थिति के मद्देनजर उन्हें फेफड़ों की गंभीर बीमारी हो सकती है, जिससे उनकी मृत्यु हो सकती है। इसलिए उन्होंने निवेदन किया कि उन्हें घर का बना हुआ उचित भोजन दिया जाए जिसके लिए उन्हें घर पर रहना आवश्यक है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर शासन द्वारा इस संबंध में सभी मंडलायुक्तों, डीएम, एसएसपी और एसपी को निर्देश जारी किये गए हैं। सुचारू रूप से इनकी आपूर्ति जारी रहे इसके लिए इनको बनाने वाली कंपनियों, लोडिंग एवं अनलोडिंग में लगे श्रमिकों और इनके परिवहन में लगे वाहन भी छूट के दायरे में आएंगे। इसी तरह की छूट कटाई में प्रयुक्त कंबाईन हार्वेस्टर और इस दौरान जरूरी श्रमिकों पर भी होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो साझा किया है जिसमें एक छोटी बच्ची अपने पिता को संदेश देते नजर आ रही है। खास बात ये है कि इस वीडियो में बच्ची सोशल डिस्टेंसिंग (सामाजिक दूरी) का मतलब भी समझा रही है। जिसकी पीएम मोदी पूरे देशवासियों से अपील कर रहे है।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इस पैकेज का स्वागत करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में देश के गरीबों के कल्याण के लिए 1,70,000 करोड़ रुपये के राहत पैकेज के जरिए प्रधानमंत्री लगातार सुनिश्चित कर रहे हैं कि आपदा की इस विषम परिस्थितियों में देश का कोई भी गरीब भूखा न सोए। नड्डा ने इस पैकेज से देश की जनता को पहुंचने वाले कई फायदे गिनाए।

कोरोनावायरस से जूझते देशवासियों के लिए गुरुवार को केंद्र की मोदी सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। सरकार ने लॉकडाउन से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले गरीब, किसान, गरीब महिला, सीनियर सिटीजन को राहत देने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 1.70 लाख करोड़ रुपये का पैकेज दिया है।

वित्त मंत्री ने कहा कि किसानों को सालाना 6 हजार रुपये पीएम किसान सम्मान निधि के तहत मिलते हैं, हम इसकी पहली किस्त अप्रैल के पहले हफ्ते किसानों को देंगे। इसका 8.69 करोड़ किसानों को इसका फायदा मिलेगा।

स्पेन के डिप्टी प्राइम-मिनिस्टर (उप-प्रधानमंत्री) कार्मेन काल्वो के कोरोनावायरस से संक्रमित होने के पुष्टि हुई है। दुनियाभर में इस संक्रमण के चलते अभी तक 20 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र के मुकाबले 537.93 अंकों की तेजी के साथ 29,073.1 पर खुला और 29,083.88 तक उछला हालांकि इस दौरान सेंसेक्स का निचला स्तर 28,607.75 रहा।

वैज्ञानिक के मुताबिक, अमेरिका या इटली में कोविड-19 धीरे-धीरे फैला और फिर अचानक तेजी से मामले आए। मौजूदा अनुमान देश में शुरुआती चरण के आंकड़ों पर है, जो कि कम टेस्टिंग की वजह से है।