गलवान घाटी

Galwan Clash: हाल ही में चीन ने पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीनी और भारतीय सैनिकों की झड़प का एक वीडियो जारी किया था। जिसमें कैप्‍टन सोइबा मानिंग्बा चीनी सैन्‍य अफसरों पर हावी पड़ते दिखाई दिए थे।

Galwan Valley China Death: चीनी मीडिया चाइना ग्लोबल टेलीविजन नेटवर्क (सीजीटीएन) ने दावा किया है कि पीएलए के पांच सैनिकों को मानद उपाधि और प्रथम श्रेणी के मेरिट प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया है। इसमें कहा गया कि जून, 2020 में सीमा पर हुए एक संघर्ष के दौरान चार चीनी सैनिकों को मरणोपरांत मानद उपाधियों और प्रथम श्रेणी के योग्यता पुरस्कारों से सम्मानित किया गया, जिसकी घोषणा शुक्रवार को केंद्रीय सैन्य आयोग (सीएमसी) ने की।

LAC face off : पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी (Galwan Valley) में बीते 15 जून को भारत और चीनी (India-China border Faceoff) सैनिकों के बीच में हिंसक झड़प हुई थी। इस खूनी संघर्ष में भारत के 20 सैनिक शहीद हुए थे। लेकिन चीन ने पहली बार इस झड़प में अपने मारे गए सैनिकों की संख्या बताई है।

Indo-China Border Dispute: चीन के प्रोपेगेंडा अखबार ग्लोबल टाइम्स(Global Times) के संपादक ने इसको लेकर पहली बार माना है कि 14 जून की रात को गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारतीय सैनिकों (Indian Army) के साथ झड़प में चीन के सैनिकों की मौत हुई है।

कोरोना काल (Coronavirus) में भी सीमा पर चीन और पाकिस्तान (China and Pakistan) की नापाक हरकतें जारी है। एक तरफ जहां पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन (India and China) के बीच लगातार तनाव की स्थित बनी हुई है।

सीमा पर चीन (China) लगातार नापाक साजिशों को अंजाम देने में लगा हुआ है। इतना ही नहीं पैंगोंग सो झील के दक्षिणी छोर पर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) भारतीय सैनिकों को लगातार उकसाने की कोशिश भी कर रहा है।

मॉस्को में भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) और चीनी रक्षा मंत्री के बीच मुलाकात चीनी प्रशासन के अनुरोध पर हुई है।

सीमा विवाद के बीच रूस (Russia) की राजधानी मास्को (Moscow) पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने एक बार फिर चीन को जमकर खरी खोटी सुनाई है।

भारत और चीन (India and China) के बीच बुधवार को हुई सैन्य वार्ता में कोई समाधान नहीं निकल सका है। सूत्रों ने कहा कि दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों के बीच बातचीत जारी रहेगी।

एक तरफ जहां सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन (India & China) के बीच तनाव बरकरार है। वहीं दूसरी ओर ड्रैगन अब पूरी दुनिया के लिए लगातार मुश्किलें पैदा करने में लगा हुआ है।