गलवान घाटी

राजनाथ सिंह ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ साउथ ब्लॉक में बैठक करने के बाद मोदी से मुलाकात की। 1975 के बाद से पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के साथ संघर्ष में भारतीय सेना के जवानों के शहीद होने की यह पहली घटना है।

चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स की मानें तो झड़प के दौरान चीन के 5 सैनिक भी मारे गए हैं। लेकिन अब अखबार इस पूरे मामले पर भारतीय मीडिया को झूठा कह रहा है और बता रहा है कि ऐसी किसी भी खबर के बारे में उनकी तरफ से पुष्टि नहीं की गई है।

बताया जा रहा है कि सोमवार रात को गलवान घाटी के पास जब दोनों देशों के बीच बातचीत के बाद सबकुछ सामान्य होने की स्थिति आगे बढ़ रह थी। तब दोनों देशों के सैनिकों के बीच तनाव बढ़ गया।