गाजीपुर बॉर्डर

Ghazipur Border: तकरीबन 2 महीने से दिल्ली-यूपी(Delhi-UP) स्थित गाजीपुर बॉर्डर पर किसान तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर धरने पर बैठे हैं।

Priyanka Gandhi Tweet: 6 फरवरी की सुबह कांग्रेस(Congress) की महासचिव प्रियंका गांधी(Priyanka Gandhi) ने एक ट्वीट में गाजीपुर बॉर्डर पर लगाई गई 12 लेयर की बैरिकेड को लेकर सरकार पर निशाना साधा।

Kisan Andolan Chakka Jaam: केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर में 12-3 बजे तक चला चक्का जाम खत्म हो गया है। किसानों नेताओं ने चक्का जाम खत्म किए जाने का ऐलान किया।

काफी फजीहत होने के बाद दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर किसानों को रोकने के लिए लगाई गई नुकीली कीलों को गुरुवार को हटा दिया है। कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है।

Farmers Protest: शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राउत (Shivsena Leader Sanjay Raut) मंगलवार दोपहर को एक बजे गाजीपुर पहुंचेंगे। संजय राउत ने इसकी जानकारी खुद ट्विटर के माध्यम से दी है। 

Gazipur Border Update: गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार(UP Government) की तरफ से भी गाजीपुर बॉर्डर को खाली कराने का आदेश तो दिया गया लेकिन किसान नेता राकेश टिकैत(Gazipur Border) के आंदोलन को फिर से खड़ा करने के लिए जो आह्वान किया, उसके बाद से एक बार फिर गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है।

UP: शुक्रवार को मुजफ्फरनगर में नरेश टिकैत (Naresh Tikait) ने पंचायत का आयोजन किया है। प्रशासन और भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) के बीच संभावित टकराव टल गया है। प्रशासन ने किसान पंचायत की इजाजत दे दी है। वहीं सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। यातायात सुचारू रहे इसके लिए रूट में फेरबदल किया गया है।

26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा (Delhi Violence) के बाद किसान आंदोलन (Farmers Protest) कमजोर हो रहा था लेकिन एक बार फिर इस प्रदर्शन ने जोर पकड़ लिया है। शुक्रवार को भी कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का धरना आंदोलन जारी है।

दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस हिंसा के मामलों पर गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) लगाया है। गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किला समेत अन्य स्थानों पर हुई हिंसा के मामले में देशद्रोह और UAPA के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। इसकी जांच दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को सौंपी गई है।

किसान आंदोलन के बीच भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत का बड़ा बयान आया है। नरेश टिकैत ने गाजीपुर बॉर्डर से धरना खत्म करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि सब सुविधाएं बंद होने के बाद धरना कैसे चलेगा।