गुजरात

गुजरात में कोरोनावायरस के तीन और पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि फिलहाल राज्य में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 73 तक पहुंच चुकी है

भारत के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्री ने कोरोना संकट के बीच PM-CARES में 500 करोड़ रुपए दान किये हैं।

दरअसल गुजरात में जो युवती कोरोनावायरस की चपेट में आई थी और राज्य की पहली मरीज बनी थी अब वह एकदम ठीक होकर घर लौट आई है। सोमवार को जब युवती अपने घर पहुंची, तो सोसाइटी वालों ने थाली और शंख बजाकर उसका जोरदार तरीके से स्वागत किया।

टाटा ट्रस्ट ने शनिवार को कोविड-19 से लड़ाई के लिए 500 करोड़ रुपये की घोषणा की। टाटा ट्रस्ट के चेयरमैन रतन एन. टाटा ने कहा कि भारत और दुनिया में वर्तमान हालात गंभीर चिंता के विषय हैं और तत्काल कार्रवाई की जरूरत है।

लॉक डाउन के बीच एसपी कुमार आशीष के मोबाइल पर गुरुवार की शाम एक फोन कॉल आया। कॉलर ने फोन रिसीव होते ही एसपी को अपशब्द कहना शुरू किया, बिना किसी कारण और बिना कुछ बताये। एसपी को अपशब्द कहे जा रहे थे मगर उन्होंने अपना धैर्य नहीं खोया। उन्होंने मीडिया को बताया- ‘’मैं समझ गया था कुछ तो वजह होगी, शायद वे बहुत परेशान हैं और उनकी हालत दयनीय होगी

भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने बुधवार को कुल 11 सीटों के राज्यसभा उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी। कांग्रेस से भाजपा में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्य प्रदेश से पार्टी ने टिकट दिया है।

ट्विटर के माध्यम से महिंद्रा ग्रुप के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा ने गुजरात स्थित 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' में अपने अनुभव को साझा करते हुए एक तस्वीर साझा की।

उम्मीद के मुताबिक होने वाली डिफेंस डील में भारत, अमेरिका के 24 रोमियो हेलिकॉप्टर खरीदने पर समझौता कर सकता है, जो कि करीब 3 बिलियन डॉलर का होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में नमस्ते ट्रंप को संबोधित किया। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां एयरपोर्ट पर डोनाल्ड ट्रंप का गले लगाकर स्वागत किया।

उन्होंने कहा कि बीते 10-11 साल में जहां भारत का कुल आलू उत्पादन 20 फीसदी की दर से बढ़ा है, वहीं गुजरात में 170 फीसदी की दर से बढ़ा है।पीएम मोदी ने कहा, "गुजरात में आलू उत्पादन की क्वांटिटी और क्वालिटी में यह वृद्धि बीते दो दशक में की गई नीतिगत पहल, नीगितगत फैसले और सिंचाई की आधुनिक और पर्याप्त सुविधाओं के कारण हुई है।"