गुजरात सरकार

हर साल की तरह इस बार भी भगवान जगन्नाथ की ऐतिहासिक रथयात्रा निकाली जा रही है, लेकिन कड़ी शर्तो के साथ। इस यात्रा में सुप्रीम कोर्ट के बताए गए सारे निर्देशों का पालन करना होगा।

सोमवार को पुरी में होने वाली प्राचीन भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा को आयोजित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने शर्त के साथ इजाजत दी है। SC के इस फैसले के बाद गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा कि गुजरात सरकार ने अहमदाबाद में भगवान जगन्‍नाथ की यात्रा को अनुमति देने के लिए गुजरात हाईकोर्ट में एक याचिका दायर करने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा कि इस रिपोर्ट पर पिछले चार दिन के दौरान गहनता से विचार करने के बाद हमने 14,000 करोड़ रुपये का 'गुजरात आत्मनिर्भर पैकेज' देने का फैसला किया है। 

गुजरात सरकार अपनी जनता के साथ-साथ प्रवासी मजदूरों का भी खास ख्याल रख रही है।

गुजरात के राजकोट में शापर-वेरावल हाईवे पर रविवार को आक्रोशित मजदूरों ने जमकर हंगामा किया। आक्रोशित मजदूरों ने तोडफोड़ की और कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

दरअसल देश के कुछ प्रतिष्ठित स्टार्टअप एसीटी के बैनर तले इकट्ठा हुए हैं। एसीटी का आशय एक्शन कोविड टीम से है। एसीटी के इन्हीं सदस्यों ने गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी की अध्यक्षता में हुई एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में हिस्सेदारी की।

ऐसे में यह भी नहीं पता कि लॉकडाउन के दौरान यह गाड़ी सड़कों पर कैसे आई? इसके अलावा यह भी एक सवाल है कि एक गाड़ी में इतने लौग कैसे मौजूद थे खास तब जब कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए सरकार की तरफ से पूरे देशभर में लॉकडाउन किया गया है।  

प्रदेश में जो भी राजनीतिक घटनाक्रम हुआ है उसके बाद अब कांग्रेस के अंदर काफी उथल-पुथल देखने को मिल रही है। कभी राजस्थान से बगावत की खबरें उठ रहीं है तो कभी गुजरात से।

नागरिक उड्डयन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सीएम के दौरों के लिए अभी 'बीचक्राफ्ट सुपर किंग' विमान का प्रयोग किया जा रहा है, जो कम दूरी के लिए उपयोगी होता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में गुजरात भवन का उद्घाटन किया है। कांग्रेस मुख्यालय के सामने बना नया गुजरात भवन सात मंजिला है और इसका नाम गरवी गुजरात भवन रखा गया है।