गूगल डूडल

इसरो की वेबसाइट के अनुसार, 12 अगस्त, 1919 को अहमदाबाद में जन्मे साराभाई अंबालाल और सरला देवी के आठ बच्चों में से एक थे। इंटरमीडिएट विज्ञान की परीक्षा पास करने के बाद उन्होंने अहमदाबाद में गुजरात कॉलेज से मैट्रिक किया।

गूगल ने डूडल बनाकर लोगों से मतदान की अपील की है। इस डूडल में उंगली पर स्याही लगाई हुई दिख रही है। इसके जरिए गूगल ने मतदान कैसे किया जाए इसकी पूरी प्रक्रिया समझाई है।

गूगल ने बुधवार को पृथ्वी की सतह पर एक फूल के एनिमेटेड डूडल के साथ वसंत विषुव को प्रदर्शित किया। वसंत विषुव पर बने डूडल की पहुंच भारत सहित यूरोप, एशिया और उत्तरी अमेरिका, यानी लगभग पूरे उत्तरी गोलार्ध तक रही, जहां गुरुवार को मौसम का पहला दिन है। 

वर्ल्ड वाइड वेब ने मानव समाज के भविष्य को पूरी तरह से बदल दिया है। 12 मार्च, 1989 को 33 वर्षीय सर टिम बर्नर्स-ली ने अपने बॉस को एक प्रपोजल 'इंफॉरमेशन मैनेजमेंट: अ प्रपोजल' सबमिट किया था, जिसे आज हम वर्ल्ड वाइड वेब के नाम से जानते हैं।

गूगल ने भी बेहद खास अंदाज में विशेष डूडल स्लासइड के जरिये महिलाओं के प्रति अपना सम्मा न व्यीक्ता किया है। इस स्लाभइड में 14 भाषाओं में महिला सशक्तिकरण के प्रेरणादायक कोट्स लिखे गए हैं।

नई दिल्ली। सर्च इंजन गूगल ने शुक्रवार को अरसीबो संदेश का डूडल बनाया है। साल 1974 में वैज्ञानिकों ने तीन...

नई दिल्ली। गूगल ने बुधवार को भारत में बाल दिवस के मौके पर एक खास डूडल के जरिए बच्चों को...

नई दिल्ली। बनारस घराने के जाने-माने तबला वादक लक्ष्मी नारायण सिंह उर्फ लच्छू महाराज की आज 74वीं जयंती है। इस...

नई दिल्ली। गूगल गुरुवार को अपना 20वां जन्मदिन मना रहा है और इस मौके को यादगार बनाने के लिए गूगल...