गृह मंत्री

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का ये पहला आम बजट है। बजट पेश करने के दौरान पीएम मोदी और गृह मंत्री समेत मोदी सरकार के तमाम मंत्री सदन में उपस्थित रहे।

दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान एक युवक द्वारा गोली चलाने की घटना के बाद देश के गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ा बयान दिया है।

साल 2014 में तत्कालीन अध्यक्ष राजनाथ सिंह के गृह मंत्री बनने के बाद बीजेपी ने अमित शाह को नया अध्यक्ष बनाया था। सन 2019 में अमित शाह के गृहमंत्री बनने के बाद से ही पार्टी के लिए नए अध्यक्ष की तलाश की जा रही थी।

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया अपनी ताकत दिखाने के लिए पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में बड़ी रैली की योजना बना रहा है। यह रैली 5 जनवरी को आयोजित होनी है। जानकारी के मुताबिक उसे अभी इस रैली की इजाजत नहीं मिली है।

नये साल के आगाज पर उन्होंने लोगों से शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील करते हुए कहा कि भारत एक बगीचा है, जिसमें हर तरह के फूल हैं, हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई आदि ये फूल हैं और सब फूल को खिलने का मौका मिले।

भाजपा ने यह तय किया है कि पार्टी सकारात्मक तरीके से पूरे देश में इस कानून की सच्चाई जनता को बताएगी। इसी कड़ी में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं गृह मंत्री अमित शाह 12 जनवरी को जबलपुर आ रहे हैं।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि डिटेंशन सेंटर और एनआरसी या सीएए के बीच कोई संबंध नहीं है। डिटेंशन सेंटर वर्षों से है और अवैध प्रवासियों के लिए है। इस पर गलत सूचना फैलाई जा रही है।

संसद के दोनों सदनों से मंजूरी मिलने के बाद राष्ट्रपति के हस्ताक्षर होने के साथ ही पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से धर्म के चलते प्रताड़ित होकर भारत आए गैर-इस्लामी धर्म को छोड़कर हिंदू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्ध धर्म के लोगों की नागरिकता का मार्ग प्रशस्त हो सकेगा।

इस बिल के विरोध में ओवैसी ने कहा कि, सरकार आखिर चीन के बारे में क्यों नहीं बोलती? इस बिल से देश को खतरा है। इससे पहले असदुद्दीन ओवैसी ने इस बिल के विरोध में अपनी बात रखी और कहा कि मुल्क को ऐसे कानून से बचा लीजिए।

गृह मंत्री के साथ बैठक के बाद एक पंचायत सदस्य मीर जुनैद ने कहा, "गृह मंत्री ने जम्मू-कश्मीर में प्रत्येक पंच और सरपंच को दो लाख रुपये का बीमा प्रदान करने का आश्वासन दिया है।"