गृह मंत्री अमित शाह

साल 2020 केंद्र सरकार के लिए चुनौती पूर्ण रहा था। कोरोना महामारी ने पूरे देश को अपनी गिरफ्त में ले लिया। जिसके चलते देश की अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान उठाना पड़ा। वहीं दूसरी ओर सीमा पर चीन और पाकिस्तान अपनी नापाक साजिशों को अंजाम देता रहा।

Amit Shah Navratri: बता दें कि बहुचर माता मंदिर(Bahuchara Mata) में अमित शाह(Amit Shah) बहुत आस्था रखते हैं।बता दें कि माणसा में बहुचर माताजी के मंदिर का जीर्णोद्धार उनके परिवार द्वारा ही करवाया गया है।

Drinking water Project: सीएम विजय रूपाणी (CM Vijay Rupani) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने वर्ष 2024 तक देश में नल द्वारा हर परिवार को स्वच्छ पेयजल (Pure Drinking water) उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा है, लेकिन गुजरात (Gujrat) ने पहले ही योजना बना ली है और गुजरात ने दो साल पहले यानी 2022 तक इस लक्ष्य तक पहुंचने के बारे में योजना बना ली है।

बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने आज ट्वीट कर जानकारी दी कि गृह मंत्री अमित शाह का फिर कोरोना टेस्ट हुआ, जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। लेकिन गृह मंत्रालय ने इस खबर का खंडन किया है।

गलवान घाटी में शहीद हुए 20 सैन्‍यकर्मियों को बड़ा सम्मान मिलेगा। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन यानी DRDO ने एक बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत दिल्‍ली स्थित सरदार वल्‍लभभाई पटेल कोविड अस्‍पताल के अलग-अलग वॉर्डों के नाम गलवान घाटी में शहीद हुए 20 सैन्‍यकर्मियों के नाम पर रखे जाएंगे।

इस रथयात्रा को इजाजत मिलने के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने लोगों को बधाई दी है और कहा कि, सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पूरा देश प्रसन्न है।

पीएम मोदी ने कहा कि, मैं देश को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। हमारे लिए भारत की अखंडता और संप्रभुता सर्वोच्च है और इसकी रक्षा करने से हमें कोई भी रोक नहीं सकता। भारत शांति चाहता है लेकिन भारत उकसाने पर हर हाल में यथोचित जवाब देने में सक्षम है।

रविवार, सुबह 11 बजे होने वाली इस बैठक में दिल्ली के हालात पर चर्चा होगी। इस बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया, दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल सहित गृह मंत्रालय के दूसरे अधिकारी शामिल रहेंगे।

इस बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया, दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल सहित गृह मंत्रालय के दूसरे अधिकारी मौजूद रहेंगे।

वेतन ना मिलने को लेकर कस्तूरबा हॉस्पिटल के रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर सुनील कुमार का कहना है कि मार्च, अप्रैल और मई की सैलरी उन्हें अब तक नहीं मिली है।