चुनाव आयोग

बता दें कि प्रणब मुखर्जी की इस टिप्पणी से एक दिन पहले कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनाव आयोग पर पक्षपात का आरोप लगाया था। यही नहीं विपक्षी दल चुनाव आयोग के कथित तौर पर बीजेपी के प्रति झुकाव रखने को लेकर आयोग की आलोचना करते रहे हैं।

टीएमसी ने अपनी चिट्ठी में कहा कि चुनाव आयोग इस पर आंख और कान बंद करके बैठा हुआ है। पार्टी ने आयोग से तुरंत कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि इस तरह का चुनाव प्रचार नैतिकता के खिलाफ और गलत है।

सूचना मिलने पर जब तक यूपी 100 की पुलिस पहुंची, स्याही लगाने वाले भाग चुके थे। ग्रामीणों को जैसे ही इसकी जानकारी हुई, आसपास के गांव से काफी भीड़ एकत्र हो गई और सभी लोग हंगामा करने लगे।

वोट डालने के बाद नीतीश कुमार ने एक महीने से अधिक समय तक चले चुनाव को लेकर आपत्ति जताई। सीएम नीतीश ने कहा कि चुनाव कम से कम चरणों में कराया जाना चाहिए। यहां ध्यान रहे कि विपक्षी पार्टियां भी इसी तरह की मांग कर रही हैं और सात चरणों में चुनाव कराए जाने को लेकर चुनाव आयोग पर सवाल उठाती रही है।

पीएम मोदी ने कहा कि भगवान के चरणों में आने के बाद मैं कुछ मांगता नहीं हूं। भगवान ने आपको मांगने योग्य नहीं देने योग्य बनाया है। उन्होंने कहा कि विकास का मेरा मिशन, प्रकृति पर्यावरण और पर्यटन।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने एक बयान में कहा, "मीडिया के एक वर्ग में आदर्श आचार संहिता से निपटने के संबंध में भारत निर्वाचन आयोग की आंतरिक कार्यप्रणाली के बारे में आज एक बेकार और गैर जरूरी विवाद की खबर आई है।"

चुनाव आयोग में हो रहे विवाद के बीच बिहार के उपमुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने शनिवार को कहा कि चुनाव आयोग सहित अन्य संवैधानिक संस्थाओं की गरिमा को गिराना और उसके कामकाज में हस्तक्षेप करना कांग्रेस की आदत रही है।

निर्वाचन आयुक्त अशोक लवासा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को क्लीन चिट दिए जाने के मामले में अपनी असहमति को रिकॉर्ड नहीं किए जाने को लेकर आदर्श आचार संहिता से संबंधित आयोग की बैठकों से दूर रहने का फैसला किया है।

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि, 'चुनाव आयोग है या चूक आयोग। लोकतंत्र के लिए एक और काला दिन। चुनाव आयोग के सदस्य ने बैठकों में शामिल होने से इनकार किया।'

कोलकाता में हिंसा फैलने के बाद चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में अपराध जांच शाखा (सीआईडी) के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) राजीव कुमार को उनके पद से हटाकर गृह मंत्रालय में तैनात होने का आदेश दिया था।