छापेमारी

अलगाववादी नेता सज्जाद लोन के करीबी व्यापारी आसिफ लोन, तनवीर अहमद, तारिक अहमद और बिलाल भट के घर पर पुलिस और सीआरपीएफ के साथ एनआईए ने छापेमारी की।

2007 से 2012 के बीच बसपा शासनकाल के दौरान नेतराम प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री के तौर पर तैनात थे और ताकतवर अफसरों में उनकी गिनती होती थी। बताया जाता है कि कैबिनेट मंत्रियों को भी नेतराम से मिलने के लिए मुख्यमंत्री से मिलने की तरह समय लेना पड़ता था।

नई दिल्ली। NIA (नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी) ने हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम समूह से जुड़े एक और आरोपी को शुक्रवार रात गिरफ्तार कर लिया...