जम्मू कश्मीर

गायक अदनान सामी ने अपने पूर्ववर्ती देश पाकिस्तान के निवासियों को लेकर कहा कि वे 'अपने खुद के जीवन से निराश हैं' और जब से उन्हें यह एहसास हुआ है कि मैं इन सब से आगे बढ़ चुका हूं, तब से वे मेरे ऊपर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं।

श्रीनगर में भी कुछ इलाकों में प्रतिबंध फिर से लगा दिए गए हैं। यह वे इलाके हैं जहां शनिवार को छूट दिए जाने के बाद झड़प की खबरें आई थी। इस बीच सऊदी अरब से करीब 300 हाजियों को लेकर फ्लाइट आज सुबह ही श्रीनगर एयरपोर्ट पर पहुंची।

कश्मीर से 370 खत्म होने के बाद सबसे अधिक फोकस इसी बात पर है कि किस तरह से जल्दी से जल्दी लाखों कश्मीरी पंडितों को उनके घरों में वापस लौटाया जा सके।

दरअसल धारा 370 हटाए जाने के खिलाफ कुल 7 याचिकाएं दायर की गई थी। जिसमें से 4 याचिकाओं में सुप्रीम कोर्ट ने कामियां पाईं। इन चार याचिकाओं में से पहली याचिका अनुच्छेद 370 हटाए जाने का विरोध किया गया है।

इस मौके पर एकत्र हुए लोगों को संबोधित करते हुए मलिक ने कहा कि सरकार कश्मीरी पंडितों की सुरक्षित वापसी को लेकर प्रतिबद्ध है, जो 1990 में हजारों की संख्या में घाटी छोड़कर चले गए थे।

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा  10 सप्ताह से भी कम समय में अनुच्छेद 370, 35 ए को रद्द कर राजग सरकार ने प्रथम गृह मंत्री सरदार पटेल के सपने को पूरा किया है। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 ने जम्मू-कश्मीर में विकास को रोक रखा था।

राज्यपाल मलिक ने राहुल से खुद घाटी में आकर हालात देख लेने को कहा था। कांग्रेस नेता ने अगले दिन उन्हें जवाब दिया है। राहुल गांधी ने केंद्र द्वारा अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने के बाद कश्मीर में हिंसापूर्ण घटनाएं होने का दावा किया था।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि यह असंवैधानिक है. कश्मीर मामले में प्रियंका गांधी का यह पहला बयान है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमारे पास वास्तविक तस्वीर होनी चाहिए, कुछ समय के लिए यह मामला रुकना नहीं चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा है कि इस मामले की सुनवाई 2 सप्ताह बाद की जाएगी।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद(UNSC) की तरफ से पाकिस्तान को झटका मिला है और यूएनएससी के मौजूदा अध्यक्ष पोलैंड ने साफ कर दिया है कि, नई दिल्ली और इस्लामाबाद को कश्मीर मुद्दे का समाधान द्विपक्षीय स्तर पर ही सुलझाना होगा।