जम्‍मू-कश्‍मीर

घाटी में पांच अगस्त को अनुछेद 370 हटाने से पहले यहां करीब 50 से अधिक बड़े राजनेताओं को हिरासत में लिया गया था, जिनमें पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती भी शामिल थीं।

मारे गए नौ आतंकवादियों में से चार को दक्षिणी कश्मीर के बतपुरा क्षेत्र में शनिवार को मार गिराया गया। ये चारों हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी थे, जो नागरिकों की हत्याओं में शामिल थे। सूत्रों के मुताबिक, हिजबुल मुजाहिदीन के चारों आतंकवादी दिनदहाड़े मुठभेड़ में मारे गए।

मुफ्ती को पांच अगस्त, 2019 को राज्य के दो अन्य पूर्व मुख्यमंत्रियों- फारूख अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला के साथ हिरासत में लिया गया था। इन नेताओं को राज्य में धारा 370 को हटाए जाने के बाद हिरासत में लिया गया था।

जम्मू-कश्मीर सरकार ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) के तहत चल रही नजरबंदी के आदेश को रद्द कर दिया है। जम्मू-कश्मीर सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के पीएसए नजरबंदी आदेश को निरस्त कर दिया गया है।

पुलिस ने कहा था कि दोनों आतंकवादियों और वकील ने जम्मू पहुंचने के बाद पाकिस्तान की यात्रा की योजना बनाई थी। सिंह को पहले श्रीनगर से ट्रांजिट रिमांड पर जम्मू ले जाया गया था, जहां एनआईए की टीम ने उनसे पूछताछ की थी।

जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में सोमवार सुबह सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में एक अज्ञात आतंकवादी मारा गया। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के एक अधिकारी ने इस बात की जानकारी दी।

दिल्ली में एक बड़ी साजिश को अंजाम देने की तैयारी थी। इसी तैयारी के तहत सीएए के विरोधियों को भड़का कर उन्हें आतंकवाद की राह पर ले जाने का कुचक्र रचा गया था।

घाटी के नुमदाह हस्तकला से अपनी सफलता की कहानी लिखने वाली कश्मीरी महिला अरिफा जान ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ट्विटर हैंडल से संदेश दिया।

जम्मू-कश्मीर के निवासी सात महीने के बाद अब 2जी मोबाइल इंटरनेट पर सोशल मीडिया वेबसाइट्स का इस्तेमाल कर सकेंगे। सूत्रों ने यह जानकारी दी।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने से संबंधित याचिकाओं को बड़ी पीठ के पास भेजने से इनकार कर दिया।