जल स्तर

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल की पहली मन की बात में जिस जल संकट की ओर इशारा किया था, वो दिनो दिन मुंह बाए सिर उठाता ही जा रहा है।

कोई यह नहीं सोच रहा कि गंगा को कैसे बचाया जाए? उन्होंने कहा कि पहले प्रदूषण पर रोक लगाना भी बहुत जरूरी है। अगर कोई दोहन कर रहा है, तो सरकार को चाहिए कि पानी ज्यादा बढ़ाकर छोड़ दे, जिससे जीव-जंतु और पक्षीयों की जान बच सकती है।