जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के शिक्षक एसोसिएशन delhi

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस को शरजील इमाम के बैंक खाते में विदेशी फंडिंग के सबूत मिले हैं। इसके तार शाहीन बाग में हो रहे विरोध प्रदर्शन से भी जुड़े हैं।

देशद्रोह के मामले में गिरफ्तार जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) स्टूडेंट शरजील इमाम को लेकर एक और बड़ा खुलासा हुआ है। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस को शरजील इमाम के बैंक खाते में विदेशी फंडिंग के सबूत मिले हैं।

जानकारी यह भी मिली है कि शरजील इमाम देश छोड़कर भागने की तैयारी में था। पुलिस का शिकंजा कसने के बाद वह बिहार में अपने घर के पास स्थित एक इमामबाड़े में जाकर छिप गया था। उसे कई राज्यों की पुलिस देश के अलग-अलग हिस्सों में तलाश रही थी। सुराग मिलते ही दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की एक टीम ने उसे उसके घर के पास वाले इमामबाड़े से दबोच लिया।

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम से पूछताछ में शरजील इमाम ने स्वीकार किया कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में भड़काऊ भाषण देने का वीडियो उसका ही है। साथ ही शरजील ने ये भी बताया कि वायरल वीडियो में कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है।

जहानाबाद कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को उसकी सुरक्षा पर ध्यान देने का निर्देश दिया। सुरक्षा के लिहाज से शरजील को पटना के गर्दनीबाग स्थित महिला थाना परिसर में एक कमरे में रखा गया। उसकी निगरानी में दिल्ली पुलिस के दो अधिकारी के अलावा बिहार पुलिस के कमांडो भी थे।

शरजील इमाम के खिलाफ एक और शिकायत दिल्ली के IP स्टेट थाने में दी गई। ये शिकायत दिल्ली पुलिस के रिटायर्ड एसीपी वेद भूषण ने दी है। अब तक दिल्ली में कुल तीन शिकायत शरजील के खिलाफ अलग-अलग थानों में दी जा चुकी है।

शाहनी बाग में महीने भर से ज्यादा समय से चल रहे सीएए विरोधी प्रदर्शन के मास्टमाइंड शरजील इमाम ने बड़ा बेतुका बयान दिया है।

एनसीडब्ल्यू के अनुसार, कोमल ने आरोप लगाया है कि एक राष्ट्रीय न्यूज चैनल ने अपने स्टिंग ऑपरेशन में उन्हें गलत तरीके से फंसाया है। एनसीडब्ल्यू ने यह भी कहा कि शर्मा की शिकायत के अनुसार, जेएनयू हिंसा के हमलावरों के तौर पर उनकी पहचानकर और उनका नाम खोलकर उनका अपमान किया है।

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में 5 जनवरी को हुई हिंसा को लेकर जहां दीपिका पादुकोण सोशल मीडिया पर निशाने पर रहीं तो वहीं अब अजय देवगन ने अपनी नई फिल्म तानाजी के रिलीज होने के बाद JNU हिंसा को लेकर ट्वीट किया है।

दिल्ली पुलिस ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के सर्वर रूम में तोड़फोड़ करने के लिए जेएनयूएसयू अध्यक्ष आईशी घोष और 19 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।