जामिया प्रदर्शन

कश्यप ने कहा 'होम मिनिस्टर का काम होता है हमारी सुरक्षा, मीडिया ने हमारा बहुत नुकसान किया है। वो आईना बनना बंद हो गई है। मीडिया उनकी स्पीकर बन गई है।'

जामिया पहुंची जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष ने यहां पहुंचकर कश्मीर में लगी पाबंदियों का मुद्दा उठाया। आइशी ने कहा कि अपने इस प्रदर्शन में हम कश्मीर को नहीं भूल सकते।

प्रियंका की बगल में बैठी उनकी सहयोगी ने किसी को कॉल किया और कहा कि हमारे लीडर्स कहां हैं? इस दौरान प्रियंका गांधी भी भीड़ की संख्या को लेकर बेचैन दिखीं।

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि एक्शन उन्हीं के खिलाफ लिया जाएगा, जो इसमें शामिल हैं। हमने एक्शन में कम से कम पुलिस का इस्तेमाल किया है। दिल्ली पुलिस की ओर से कहा गया कि जब हमने प्रदर्शनकारियों को धकेलना शुरू किया, तो दोनों तरफ से पथराव हुआ।

रविवार को नागरिकता संशोधन एक्ट के विरोध में प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया था। प्रदर्शनकारियों ने रविवार को कई बसों, बाइकों और सार्वजनिक संपत्ति में आग लगा दी थी, जिसकी हर जगह निंदा हो रही है।

जामिया VC ने कहा, “पुलिस हमारे कैंपस में बिना परमिशन घुसी। स्‍टूडेंट्स पढ़ रहे थे, अपना काम कर रहे थे। यूनिवर्सिटी कैंपस में पुलिस की एंट्री के खिलाफ हम FIR दर्ज कराएंगे।