जी-20 सम्मेलन

इधर कोरोना वायरस से इस वक्त 172 देश प्रभावित हैं। जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक इस बीमारी से 4 लाख 38 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं। जबकि इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 19500 को पार कर चुकी है।

ट्रंप का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब ओसाका में जी-20 सम्मेलन से इतर ट्रंप और मोदी के बीच व्यापारिक मुद्दों पर हुई बातचीत के बाद आगे के कदम पर विचार के लिए दोनों देशों के व्यापारिक अधिकारी मिलने वाले हैं।

जी-20 सम्मेलन से पहले ट्रंप ने ट्वीट किया, "मैं प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी से उन मुद्दों पर मिलने के लिए उत्साहित हूं जिनके अनुसार, अमेरिका पर कई सालों से बहुत ज्यादा शुल्क लगाया गया है, और हाल ही में शुल्कों को और ज्यादा बढ़ा दिया गया है।" उन्होंने कहा, "यह अस्वीकार्य है। शुल्क को कम करना होगा।"

जापान में होने वाले जी 20 सम्मेलन के लिए रवाना होने से पहले ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, "वह ऐसे देश में हैं जो आर्थिक संकट झेल रहा है। यह एक आर्थिक आपदा है, जिसका समाधान या तो वह अभी कर सकते हैं, या फिर आज से 10 साल बाद करेंगे। और मेरे पास पूरा समय है। इस बीच उन्हें कड़े प्रतिबंध झेलने पड़ेंगे।"

सीएनबीसी न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, कुडलो ने रविवार को एक टीवी पर साक्षात्कार देते हुए कहा कि इस मुलाकात की संभावना अच्छी है लेकिन अमेरिकी और चीनी वार्ताकारों की अगली मुलाकात कब होगी इसके लिए कोई ठोस योजना तैयार नहीं है।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि योग अर्जेंटीना और भारत के बीच की विशाल दूरी को...