टिकटॉक

भारत में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी टिकटॉक (TikTok) के बैन होते ही यूट्यूब (Youtube) ने एक नया शॉर्ट वीडियो ऐप (Short video app) लॉन्च क्या है। यूट्यूब शॉर्ट्स (YouTube Shorts) के नाम से ये ऐप लॉन्च किया गया है।

अमेरिका और चीन (US and China) के बीच तकरार लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इस कड़ी में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने चीन की टिकटॉक (TikTok) के लिए उसके अमेरिकी परिचालन को बंद करने या उसे किसी अमेरिकी कंपनी को बेचने की अंतिम तिथि 15 सितंबर से आगे बढ़ाने से साफ इनकार कर दिया है।

टिकटॉक (Tiktok) की खरीद में प्रतिद्वंद्वी सोशल वीडियो प्लेटफॉर्म ट्रिलर (Triller) भी शामिल हो गया है। उसने लंदन स्थित वैश्विक निवेश फर्म सेंट्रिकस के माध्यम से 2 हजार करोड़ डॉलर की बोली के साथ टिकटॉक के चीन स्थित मूल कंपनी बाइटडांस (Bitedance) से संपर्क किया है।

टिकटॉक (Tiktok) के सीईओ (CEO) केविन मेयर (Kevin Mayer) ने तमाम राजनीतिक उतार-चढ़ावों के बीच अपने पद से इस्तीफा (Resigns) दे दिया है।

चीन को एक के बाद एक बड़े झटके लगे जा रहे हैं। हाल ही में गूगल ने 2,500 से ज्यादा चीनी यूट्यूब चैनल्स को डिलीट कर दिया। अब अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन की एप टिकटॉक पर बैन लगाने का आदेश दे दिया है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चाइनीज ऐप TikTok को लेकर और सख्त हो गए हैं। उन्होंने इस वीडियो शेयरिंग ऐप को लेकर बड़ी धमकी दी है। उन्होंने कहा कि अगर 15 सितंबर तक चीनी कंपनी को किसी अमेरिकी कंपनी ने नहीं खरीदा तो अमेरिकी मार्केट से ये ऐप बाहर कर दी जाएगी और इसका 'धंधा' बंद कर दिया जाएगा।

कंपनी ने कहा, "माइक्रोसॉफ्ट राष्ट्रपति की चितांओं के महत्व को अच्छे से समझता है। एक सम्पूर्ण सुरक्षा रिव्यू और अमेरिका व यहां की निधि को एक बेहतर आर्थिक लाभ पहुंचाने के लिए टिकटॉक की खरीदारी करने के लिए हम प्रतिबद्ध है।"

भारत-चीन सीमा संघर्ष के संदर्भ में, पोम्पियो ने बीजिंग पर अपने पड़ासियों को परेशान करने का आरोप लगाया और पूर्वी लद्दाख में भारत के साथ टकराव उकसाने के लिए दोषी ठहराया।

बयान में कहा गया है, "इसलिए पीटीए ने प्रावधानों के तहत अपनी शक्तियों का प्रयोग करते हुए बिगो को तुरंत ब्लॉक करने का निर्णय लिया। साथ ही, टिकटॉक को अंतिम चेतावनी दी गई है कि वह अपने प्लेटफार्म पर अश्लीलता और अनैतिकता को नियंत्रित करने के लिए एक व्यापक तंत्र विकसित करे।"

इसी कड़ी में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चाइनीज शॉर्ट वीडियो एप टिकटॉक के खिलाफ कैंपेन शुरू कर दिया है। डोनाल्ड ट्रंप ने बकायदा टिकटॉक के खिलाफ फेसबुक और इंस्टाग्राम पर विज्ञापन जारी किया है।