टीएमसी

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी लोकसभा चुनाव में खूब सुर्खियां बटोर चुकी हैं। जिसको लेकर चुनाव आयोग भी सख्त कार्रवाई कर चुका है।

टीएमसी ने अपनी चिट्ठी में कहा कि चुनाव आयोग इस पर आंख और कान बंद करके बैठा हुआ है। पार्टी ने आयोग से तुरंत कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि इस तरह का चुनाव प्रचार नैतिकता के खिलाफ और गलत है।

इतना ही नहीं चुनाव आयोग ने बंगाल ADG CID राजीव कुमार को पश्चिम बंगाल से गृह मंत्रालय बुला लिया। इसके अलावा चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में कल(16 मई) से ही रात 10 बजे से चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है।

भाजपा अध्यक्ष ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में उनकी पार्टी 23 सीटों पर जीत दर्ज करेगी। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने भाजपा-कांग्रेस के बिना एक संघीय मोर्चे का प्रस्ताव दिया है।

अमित शाह के आरोपों के बाद अब टीएमसी ने भी प्रेस कांफ्रेंस करके पलटवार किया है। बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने प्रेस कांफ्रेंस में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर कई आरोप लगाए।

अमित शाह ने कहा कि कल यदि सीआरपीएफ नहीं होती तो मेरा वहां से बचकर निकलना मुश्किल था। सौभाग्य से ही मैं बचकर आया हूं। कल की घटना की कलकत्ता हाईकोर्ट अथवा सुप्रीम कोर्ट से जांच करा लें।

रविवार को नौ संसदीय क्षेत्र दमदम, बारासात, बशीरहाट, जयनगर, मथुरापुर, डायमंड हार्बर, जादवपुर, दक्षिण कोलकाता और उत्तर कोलकाता में मतदान होगा। 

पश्चिम बंगाल में भाजपा और टीएमसी के बीच तकरार कम होने का नाम नहीं ले रही है। ऐसा कई दफा हुआ है कि बीजेपी के बड़े नेताओं को रैली करने से रोका गया है।

अमित शाह को पश्चिम बंगाल के जाधवपुर में रैली और हेलीकॉप्टर लैंड करने की इजाजत नहीं मिली है। शाह की दोपहर 12.30 बजे रैली प्रस्तावित है। शाह आज कोलकाता और नॉर्थ 24 परगना में भी रैली करने वाले हैं। बता दें कि पश्चिम बंगाल में आखिरी चरण के तहत 19 मई को मतदान होना है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच जुबानी जंग खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। इस बार टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री मोदी को बदले की धमकी दी है।