टेस्ट क्रिकेट

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइक गैटिंग ने मंगलवार को कहा कि पांच दिन के टेस्ट मैच में नतीजा आने की संभावनाएं ज्यादा हैं। गैटिंग ने इस बयान से चार दिन के टेस्ट मैच की खिलाफत की है

आस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर टेस्ट क्रिकेट में वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा का एक पारी में सबसे ज्यादा रनों का रिकॉर्ड तोड़ने के करीब पहुंच गए थे, लेकिन कप्तान टिम पेन द्वारा पारी घोषित किए जाने का कारण वार्नर यह इतिहास रचने से चूक गए।

वार्नर के अलावा टेस्ट मैचों में डॉन ब्रैडमैन (334, 304), आरबी सिम्पसन (311), आरएम कूपर (307), मार्क टेलर (334 नाबाद), मैथ्यू हेडन (380), माइकल क्लार्क (329 नाबाद) ने तिहरे शतक लगाए हैं।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक एशेज सीरीज के अंतिम दो टेस्ट मैचों में पारी की शुरुआत करने वाले जोए डेनले नंबर तीन पर बल्लेबाजी करेंगे। कप्तान रूट चौथे और ओली पोप अपने तीसरे टेस्ट मैच में छठे नंबर पर खेलेंगे।

आज से 29 साल पहले 16 साल के सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट के साथ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण किया था। उस समय खेल के इस सबसे मुश्किल प्रारूप में सचिन पहली पारी में पाकिस्तान के खिलाफ सिर्फ 15 रन ही बना पाए थे। लेकिन इसके बाद सचिन ने जो सफर शुरू किया वो पूरे विश्व की आंखों में छाया हुआ है और वही 16 साल का मासूम आज क्रिकेट का भगवान कहा जाने लगा है।

पैटिनसन एमसीजी में खेले जा जाने वाले मार्श शेफील्ड शील्ड मैच में विक्टोरिया की कप्तानी करेंगे। यह उनके लिए पाकिस्तान के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम में जगह बनाने का मौक हो सकता है।

नदीम को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यहां झारखंड राज्य क्रिकेट संघ (जेएससीए) स्टेडियम में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया। उन्हें तेज गेंदबाज इशांत शर्मा के स्थान पर टीम में जगह दी गई।

रोहित और मयंक की सलामी जोड़ी ने पहले विकेट के लिए यहां 317 रन जोड़े जो भारत के लिए टेस्ट में पहले विकेट के लिए अभी तक की तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी है।

खास बात यह है कि स्मिथ लगातार दूसरी बार यह मेडल हासिल करने में सफल रहे हैं। स्मिथ सिर में चोट के कारण इस साल की सीरीज में एक मैच में नहीं खेले थे । बावजूद इसके वह सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे।

इंग्लैंड ने अपने गेंदबाजों के दम पर आस्ट्रेलिया को 135 रनों से हराकर पांच मैचों की सीरीज 2-2 से बराबर कर ली। आस्ट्रेलिया ने मैनचेस्टर टेस्ट जीतकर सीरीज में 2-1 की अजेय बढ़त हासिल कर ली थी लेकिन इंग्लैंड ने चौथे दिन ही जीत हासिल करके सीरीज गंवाने से खुद को बचा लिया।