ट्रेन

Indian Railway Specail Train : भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने त्योहार के सीजन (Festive Season) को देखते हुए अगले महीने से ट्रेनों की संख्या बढ़ाने (Increase the number of Trains) की योजना बनाई है।

कोरोना महामारी (Corona epidemic) की वजह से पूरी दुनिया की रफ्तार थम सी गई है। 22 मार्च के बाद से भारत (India) में सबकुछ बंद कर दिया गया। लेकिन अनलॉक की प्रक्रिया में धीरे-धीरे स्थिति सामान्य हो रही है। ऐसे में भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने 80 नई स्पेशल ट्रेनें (Special Trains) शुरू की है।

पिछले साल नवंबर में इस परियोजना की नींव रखी गई थी। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक कुल 3 गीगावाट की क्षमता वाला सोलर पावर प्लांट लगाने की योजना है।

भारतीय रेलवे देश ने एक सफलता हासिल की है। कोरोना वायरस और लॉकडाउन के बीच फंसे हुए मजदूरों और नागरिकों के लिए सबसे पहले रेलवे ने ही सेवा शुरू की। इस बीच भारतीय रेल ने इतिहास रच दिया।

कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए सरकार ने लॉकडाउन लागू किया। जिसके चलते कई मजदूर फंस गए हैं। ऐसे में सरकार ने फंसे मजदूरों की घर वापसी के लिए सरकार ने बड़ा फैसला किया है।

ये ट्रेन नई दिल्ली से यूपी और बिहार दोनों ही जगहों के महत्वपूर्ण स्टेशनों के लिए चलाई जा रही हैं। इनमें नई दिल्ली से बिहार के दरभंगा, मुजफ्फरपुर, सहरसा, पटना, पूर्णिया, बरौनी, भागलपुर और कटिहार के लिए अतिरिक्त ट्रेनें हैं।

Tejas Express: लखनऊ से चली देश की पहली प्राइवेट ट्रेन, देखें तस्वीरें

मुंबई: महालक्ष्मी एक्सप्रेस से 500 से ज्यादा यात्रियों का रेस्क्यू, राहत और बचाव कार्य जारी

देश में निजी कंपनियों द्वारा संचालित पहली ट्रेन तेजस एक्सप्रेस लखनऊ और दिल्ली के बीच चलाई जाएगी। रेलवे बोर्ड ऐसे दूसरे मार्ग पर भी विचार कर रहा है और वह भी 500 किलोमीटर के क्षेत्र में होगा।

मध्य रेलवे के एक प्रवक्ता ने कहा कि पटरी से बोगियों को हटाने का काम जारी होने के कारण मध्य रेलवे (सीआर) ने इस मार्ग पर आने वाली ट्रेनों को या रद्द कर दिया या उनका मार्ग बदल दिया है।