डब्ल्यूएचओ

पदभार संभालने के बाद स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि मुझे पता है कि वैश्विक संकट के समय में मैं इस कार्यालय में प्रवेश कर रहा हूं। अगले 2 दशकों में कई स्वास्थ्य चुनौतियां होंगी। इन चुनौतियों से हम सब मिलकर लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि भारत मौजूदा वक्त में कोरोना से दृढ़ संकल्प के साथ लड़ रहा है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के कार्यकारी (एग्जीक्यूटिव) बोर्ड के अगले चेयमैन बनने जा रहे हैं।

घातक कोरोना संकट के बीच भारत को दुनिया ने एक और बड़ी जिम्मेदारी दी है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन को डब्‍ल्‍यूएचओ के एग्जीक्यूटिव बोर्ड का चेयरमैन चुन लिया गया है। जिसका कार्यभार वो 22 मई को संभालेंगे।

डब्ल्यूएचओ ने कोरोना को ले कर एक और चेतावनी दी है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि खुले में कीटाणुनाशक छिड़कने से कोरोनावायरस नहीं मरता, बल्कि ऐसा करना लोगों के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है।

घातक महामारी कोरोना को लेकर डब्ल्यूएचओ की तरफ से कई गाइडलाइन जारी की जा चुकी हैं। हाल ही में डब्ल्यूएचओ की तरफ से फूड सेफ्टी को लेकर कुछ और टिप्स दिए गए हैं। जिसमें बताया गया है कि फूड सेफ्टी क्यों जरूरी है।

डब्ल्यूएचओ के महामारी विज्ञानी मारिया वान केहोव ने कहा कि ठीक होने के बाद कोरोना मरीजों के फेफड़े अपने आप को रिकवर करते हैं। ऐसे में वहां मौजूद डेड सेल्स बाहर की तरफ आने लगते हैं।

ऐसा कहा जा रहा था कि कोरोना को फैलाने में चीन के वुहान की मीट मार्केट का हाथ है। इस पर अब डब्ल्यूएचओ का बयान सामने आया है। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि यह साफ है कि कोरोनावायरस में वुहान की मीट मार्केट ने भूमिका रही है, लेकिन इस मामले में अभी और रिसर्च की जरूरत है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रमुख ने दुनिया के देशों का आगह कर कहा है कि यदि लॉकडाउन को सही तरीके से नहीं हटाया गया, तो इससे मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

डब्ल्यूएचओ ने कोरोना वायरस महामारी से निपटने में ना सिर्फ चीन की प्रशंसा की बल्कि कहा कि दुनिया के देशों को वुहान से सीखना चाहिए कि वायरस के केंद्रबिंदु पर कैसे सामान्य स्थिति बहाल हुई।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने डब्ल्यूएचओ को चीन के हाथों की कठपुतली बताया और कहा कि अमेरिका पहले डब्ल्यूएचओ के बारे में जल्द ही कुछ सिफारिशें लेकर आएगा और उसके बाद चीन के बारे में भी ऐसा ही कदम उठाया जाएगा।